आसपास की कहानियाँ ||  छींटें और बौछारें ||  तकनीकी ||  विविध ||  व्यंग्य ||  हिन्दी || 2000+ तकनीकी और हास्य-व्यंग्य रचनाएँ -

बिहारीबाबू, ऐश्वर्याराय और गूगल

बिहारी बाबू फ्रस्टिया रहे हैं ऐश्वर्याराय की शादी के कारण और ऊपर से करेले पर नीम चढ़ा बना रहे हैं गूगल मियाँ :)

लगता है गूगल मियाँ अब हिन्दी में लिखा ऐश्वर्या-अभिषेक समझने लगे हैं इसीलिए बिहारी बाबू को जरा ज्यादा जलाने को अंग्रेज़ी में ही सही, ऐश्वर्या-अभिषेक को संदर्भित विज्ञापन में ले आए हैं. (यह स्क्रीनशॉट मेरे कमप्यूटर का है, और यकीन मानिए, असली है - कोई काटो-चिपकाओ संपादन नहीं :)

Tag ,,,

Add to your del.icio.usdel.icio.us Digg this storyDigg this

टिप्पणियाँ

  1. ये बढ़िया है।

    उत्तर देंहटाएं
  2. काहे परेशान करते तो हो भई हमरे बिहारी बाबू को... :) :)

    उत्तर देंहटाएं
  3. बना डालिये एक ठो सिनेमा जब जुगल-जोड़ी आपके दरवाजे आ ही गयी है!

    उत्तर देंहटाएं
  4. संजय बेंगाणी9:47 am

    यह भी खुब रही!! :)

    उत्तर देंहटाएं
  5. बड़ी गहरी निगाह है आपकी…देखा तो देखा मसाला भी तैयार कर दिया…

    उत्तर देंहटाएं
  6. Jagdish Bhatia4:51 pm

    आपने ठीक पकड़ा रवि जी, कल मैं भी 'गुरू' सर्च कर रहा था तो अंग्रेजी हिंदी दोनो के परिणाम गुगल पर आ रहे थे।
    यानी अब सर्च करने पर हिंदी और अंग्रेजी एक साथ सर्च करता है गुगल।

    उत्तर देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

विशाल लाइब्रेरी में से पढ़ें >

अधिक दिखाएं

---------------

छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें.

इंटरनेट पर हिंदी साहित्य का खजाना:

इंटरनेट की पहली यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित व लोकप्रिय ईपत्रिका में पढ़ें 10,000 से भी अधिक साहित्यिक रचनाएँ

हिन्दी कम्प्यूटिंग के लिए काम की ढेरों कड़ियाँ - यहाँ क्लिक करें!

.  Subscribe in a reader

इस ब्लॉग की नई पोस्टें अपने ईमेल में प्राप्त करने हेतु अपना ईमेल पता नीचे भरें:

FeedBurner द्वारा प्रेषित

ऑनलाइन हिन्दी वर्ग पहेली खेलें

***

Google+ Followers

फ़ेसबुक में पसंद करें