शुक्रवार, 22 दिसंबर 2006

इन चेतावनी संदेशों को अनदेखा न करें


इंटरनेट के फ़िशिंग हमलों से कैसे बचें?

पिछले हफ़्ते मुम्बई पुलिस ने कुछ नाइजीरियाई नागरिकों को इंटरनेट पर चार-सौ-बीसी और धोखाधड़ी करने के आरोप में पकड़ा. उन पर आरोप था कि उन्होंने आईसीआईसीआई बैंक की एक नकली साइट तैयार कर बैंक व ग्राहकों को करोड़ों रुपयों का चूना लगाया. उन्होंने बैंक के ग्राहकों को नकली ईमेल भेजकर कहा था कि कुछ कारणों से वे अपने पास-वर्ड और उपयोक्ता नाम अपडेट करें. ईमेल में कड़ी उस नकली साइट की थी जो हूबहू आईसीआईसीआई बैंक की असली साइट जैसा दिखता था. ग्राहक झांसे में आकर अपनी गोपनीय जानकारियाँ वहाँ डाल देते थे. अपराधियों ने यह जानकारी हासिल कर असली बैंक खातों से करोड़ों रुपए निकाल लिए और इंटरनेट बैंकिंग के ग्राहकों व सेवा प्रदाताओं को करोड़ों रुपयों का चूना लगाया. इस तरह की धोखा-धड़ी, जिसमें नकली साइट बना कर उपभोक्ताओं को ठगा जाता है, फिशिंग कहलाता है.

अपना शिकार फांसने के लिए अपराधी नकली साइटें इस तरह बनाते हैं कि वे पूरी असली लगें. एक सामान्य उपयोक्ता के लिए नकली और असली साइट में भेद करना मुश्किल होता है. इन्हीं बातों को ध्यान में रखकर इंटरनेट ब्राउज़रों के नए संस्करणों में एंटी फ़िशिंग (फ़िशिंग के संभावित हमलों से बचाने के लिए चेतावनी) वार्निंग विशेषताएँ अंतर्निर्मित शामिल की जा रही हैं. ऑपेरा 9.01, फ़ॉयरफ़ॉक्स 2 तथा इंटरनेट एक्सप्लोरर 7 संस्करणों में आपको इस तरह की सुविधा मिलती है. जब आप इस सुविधा को सक्रिय करते हैं तो ये ब्राउज़र विविध भरोसेमंद स्रोतों से प्राप्त डाटाबेस को जाँच कर यह तय करते हैं कि जिस साइट की कड़ी को खोलने के लिए आपने क्लिक किया है वह सही है या नहीं. अगर कड़ी उनके पास उपलब्ध धोखाधड़ी की साइटों वाले डाटाबेस से मिलान करती है तो वे आपको चेतावनी संदेश देते हैं कि जिस साइट पर आप भ्रमण करना चाहते हैं वह धोखाधड़ी के उद्देश्य से तैयार की गई है, अतः वहाँ न जाएँ.

संभावित फ़िशिंग हमलों से बचने के लिए ऐसे संदेशों को गंभीरता से लें व उन्हें अनदेखा न करें.

ऑपेरा 9.01 सुरक्षा सेटिंग

ऑपेरा 9.01 चेतावनी संदेश

फ़ॉयरफ़ॉक्स 2 चेतावनी संदेश

इंटरनेट एक्सप्लोरर 7 चेतावनी संदेश

एक और चेतावनी संदेश

संबंधित आलेख:

इस चिट्ठे पर अन्य चिट्ठों के साथ, प्रभासाक्षी पर

स्क्रीन चित्र: साभार एफ़-सीक्योर एंटीवायरस ब्लॉग

6 टिप्पणियाँ./ अपनी प्रतिक्रिया लिखें:

  1. बहुत सही जानकरी :)
    IE 7 तो कई बार सही साईट के लिये भी चेतावनी दे देता है।
    आपके चिट्ठे का यह थीम अच्छा लग रहा है।

    उत्तर देंहटाएं
  2. बेनामी8:40 pm

    बहुत ही उपयोगी जानकारी दी आपने ।

    उत्तर देंहटाएं
  3. बेनामी8:57 pm

    फ़ायर्फ़ाक्स 2 में यह सेक्यूरटी कहाँ पायी जाती है।

    उत्तर देंहटाएं
  4. जगदीश जी,
    धन्यवाद. :)

    प्रभात जी,
    टूल्स मेन्यू में जाएँ, फिर ऑप्शन्स पर क्लिक करें. फिर सीक्यूरिटी टैब पर क्लिक करें. आपको वहाँ दिखाई देगा -
    चेक यूजिंग ए डाउनलोड लिस्ट ...
    तथा
    चेक यूजिंग आस्किंग गूगल (ड्राप डाउन में)

    आप चुनें दूसरा वाला और बस, बाकी का काम फ़ॉयरफ़ॉक्स और गूगल को करने दें :)

    उत्तर देंहटाएं
  5. बेनामी8:31 pm

    ओपेरा का वर्जन 9.01 ना होकर 9.1 है कृपया सुधार लें।

    उत्तर देंहटाएं
  6. "..ओपेरा का वर्जन 9.01 ना होकर 9.1 है कृपया सुधार लें।..."

    धन्यवाद.

    दरअसल, यह सुविधा ऑपेरा 9.0 से ही उपलब्ध है.

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

----

नया! छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें. ---