रविवार, 15 अक्तूबर 2006

सप्ताह के कार्टून...

.

रेलवे में 100 भोजन इंसपेक्टरों की भर्ती...

नेताओं को अब हर पद के लिए पेंशन, पेंशन ही पेंशन...

ईश्वर आदमी स्वरूप है या औरत स्वरूप है या वह छक्का है?

.

.
नेट पर चोरी और शोधपत्रों की जोड़ा-जोड़ी? परंतु भाया, आखिर यह नेट बनाया किस लिए है?
वह तो कैच लेते समय टांग पर मुए मच्छर ने काट लिया और कैच छूट गया नहीं तो मैच का नजारा ही कुछ और होता...


Tag: , ,,

5 टिप्पणियाँ./ अपनी प्रतिक्रिया लिखें:

  1. वाक़ई बढिया और समसामयिक कार्टून हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  2. अच्छे कार्टून हैं विशेषकर शोधपत्र पर।

    उत्तर देंहटाएं
  3. बढिया हैं सभी कार्टून.

    उत्तर देंहटाएं
  4. बढिया है.लगे रहो रवि भाई.

    उत्तर देंहटाएं
  5. Udayesh Ravi4:17 pm

    bahut achcha prayaas. Meri bhi shubhkamnaein lizie.
    Main to pehlibaar is site per aaya hoon. Cartonon ka pradarshan bilkul naya laga khaskar Suaron ke madhyam se.

    Dhanyawad
    Udayesh Ravi

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

----

नया! छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें. ---