टेढ़ी दुनिया पर रवि रतलामी की तिर्यक, तकनीकी रेखाएँ...

हिन्दी का मुफ़्त व मुक्त वर्तनी जाँचक......

.

हिन्दी वर्तनी जाँचक संस्थापित करने हेतु सरल, चरण दर चरण मार्गदर्शन

सही हिन्दी लिखने की आप सबकी कवायदें जारी हैं. इस बात पर तो किसी की दो राय नहीं हो सकती कि हम सभी को, जहाँ तक संभव हो सके सही हिन्दी लिखने का प्रयास करना ही चाहिए. कम्प्यूटरों के इस युग में वर्तनी की जाँच और उसे सही करने का लगभग सारा कार्य अंग्रेज़ी समेत तमाम अन्य भाषाओं में सॉफ़्टवेयरों के द्वारा स्वचालित ही होता है. हिन्दी भाषा के लिए वर्तनी जाँचक उपलब्ध कराने के प्रयास कई स्तरों पर जारी हैं. माइक्रोसॉफ़्ट हिन्दी ऑफ़िस में वर्तनी जाँचक उपलब्ध है, जिसमें अरविंद कुमार का तैयार किया गया वृहत समांतर हिन्दी कोश भी समाहित है. इसके बावजूद हिन्दी भाषा की क्लिष्टता के कारण यह वर्तनी जाँचक हिन्दी शब्दों के परिवर्तित रूपों यथा - ‘लड़कियों' या ‘आवेदनकर्ता' को गलत बताता है. अर्थ साफ है - हिन्दी के लिए पूरी तरह सही वर्तनी जाँचक बनाने हेतु हमें लंबा सफर तय करना होगा. माइक्रोसॉफ़्ट हिन्दी उत्पाद अत्यंत महँगा भी है, और शौकिया रूप से लिखने वालों को मात्र सही हिन्दी लिखने के नाम पर इसे खरीदने की सलाह देना उचित नहीं है. हालाँकि यह बाजार में उपलब्ध सर्वश्रेष्ठ हिन्दी जाँचकों में से एक है जो यूनिकोड का समर्थन करता है.

वर्तनी जाँचक हेतु सबसे बड़ी समस्या शब्द संग्रह की है. सही वर्तनी युक्त शब्दों का संग्रह अगर उपलब्ध हो तो ओपनऑफ़िस जैसे ऑफ़िस सूट हेतु वर्तनी जाँचक तैयार करना आसान है. ओपनऑफ़िस के लिए सोलह हजार शब्दों का डेमो वर्तनी जाँचक हंस्पैल फ़ॉर्मेट में कुछ समय से उपलब्ध था जिसे प्रायः संस्थापित करना और चलाना मुश्किल भरा था. अब ओपनऑफ़िस संस्करण 2.0 में हंस्पैल इंजिन को अंतर्निर्मित कर दिया गया है, जिससे आपको सिर्फ डिक्शनरी फ़ाइल (शब्द सूची फ़ाइल) को ओपनऑफ़िस डिरेक्ट्री में जोड़ना होता है और आपका काम बन जाता है. इसमें शब्दकोश जोड़ने हेतु विज़ॉर्ड भी है, जिससे यह कार्य और आसान हो जाता है.

आइए आपको ओपनऑफ़िस 2.0 (या अधिक) में हिन्दी वर्तनी जाँचक शामिल करने के लिए सरल, चरण दर चरण मार्गदर्शन देते हैं. उम्मीद है, इन चरणों को पूरा कर आप आधारभूत वर्तनी जाँचक की संस्थापना तो कर ही लेंगे और ‘दिल' और ‘दील' में लिखने में आ रही गलतियों को तो ठीक कर ही लेंगे.

चरण 1: अगर आपके कंप्यूटर पर ओपनऑफ़िस 2.0 (या अधिक) संस्थापित नहीं है तो इसे यहाँ http://download.openoffice.org/2.0.3/index.html से डाउनलोड कर संस्थापित करें. ओपनऑफ़िस संस्थापना की डिरेक्ट्री ध्यानपूर्वक नोट कर रखें. लिनक्स तथा विंडोज़ दोनों ही प्लेटफ़ॉर्म के लिए ओपनऑफ़िस उपलब्ध है. तथा यह मार्गदर्शन दोनों ही परिस्थितियों के लिए है.

चरण 2: ये दो फ़ाइलें hi_IN.dic तथा hi_IN.aff जो हिन्दी शब्दकोश की फ़ाइलें हैं, इन्हें डाउनलोड करें तथा अपने कम्प्यूटर पर ओपनऑफ़िस की डिरेक्ट्री में निम्न डिरेक्ट्री में नक़ल (कॉपी) करें-
[OOo_path]/share/dict/ooo/

यहाँ पर [OOo_path] का अर्थ होगा - C:/Program Files/Open Office/ यदि आपने ओपनऑफ़िस को विंडोज़ में सी ड्राइव के प्रोग्राम फ़ाइल डिरेक्ट्री में ओपन ऑफ़िस सब डिरेक्ट्री में संस्थापित किया होगा. यह पथ आपके कंप्यूटर पर ओपनऑफ़िस की संस्थापना के अनुसार अलग भी हो सकता है. यदि आपने ओपनऑफ़िस को लिनक्स में संस्थापित किया है तो रेडहैट व फ़ेदोरा हेतु rpm -ql [package name] कमांड के जरिए संस्थापित प्रोग्राम की डिरेक्ट्री पता कर सकते हैं.

.

.

चरण 3: उक्त डिरेक्ट्री, [OOo_path]/share/dict/ooo/ में dictionary.lst नाम की फ़ाइल आपको मिलेगी. इस फ़ाइल को संपादित कर हमें हिन्दी शब्दकोश की जानकारी इसमें जोड़नी होगी. इस फ़ाइल को नोटपैड में खोलें. तथा यह लाइन अंतिम पंक्ति में वहाँ जोड़ें जहाँ से तारीख क्षेत्र प्रारंभ होते हैं -

DICT hi IN hi_IN HYPH hi IN hyph_hi_IN

आपकी फ़ाइल कुछ वैसी ही दिखनी चाहिए जैसा कि चित्र में दिखाई दे रहा है. परिवर्तन पश्चात् फ़ाइल को सहेजें. ध्यान दें कि अगर आपने फ़ाइल सही ढंग से संपादित नहीं की होगी तो आपका वर्तनी जाँचक कार्य ही नहीं करेगा.

चरण 4: अब ओपनऑफ़िस प्रारँभ करें. Tools > Options में जाएँ तथा Language Settings के बाजू में दिए गए छोटे से धन चिह्न को क्लिक करें. Languages पर क्लिक करें तथा CTL के सामने दिए ड्राप डाउन सूची पर क्लिक कर हिन्दी को चुनें. वहीं पर सबसे नीचे दिए गए Enabled for Complex Text Layout को भी चुनें. फिर Writing Aids को चुनें तथा User Defined Dictionaries में जाकर New चुनें. वहाँ उपलब्ध सूची में से Hindi चुनें तथा इसे कोई नाम दें, जैसे कि Hindi. OK बटन पर क्लिक करें.

चरण 5: अब ओपनऑफ़िस को बन्द कर फिर से चालू करें.

चरण 6: बधाई! आपको कुछ नहीं करना है. हिन्दी के कुछ अक्षर टाइप करें व देखें कि यह आपकी लिखी वर्तनी को जाँचता है या नहीं. अगर आपने सबकुछ सही किया होगा तो आपकी लिखी इबारतों में आपकी गलतियाँ तत्काल ढूंढ निकालेगा. आप दिल को दील लिखेंगे तो यह उसे लाल रंग से रंग देगा. मगर रुकिए, इसका शब्द भंडार सिर्फ सोलह हजार शब्दों का है. अतः आप देखेंगे कि जो हिन्दी शब्द इसके भंडार में पहले से नहीं होंगे उन्हें यह गलत बताएगा. उदाहरण के लिए रावण, जैसा कि चित्र में दिखाई दे रहा है. परंतु फिर, रावण को कौन अपने शब्द भंडार में रखना चाहेगा?


अभी हाल ही में चिट्ठाकार समूह में विविध स्रोतों से एकत्र किए गए करीब एक लाख हिन्दी शब्दों को प्रूफ कर सही करने की सहमति बनी है. अगर यह कार्य पूरा हो जाता है तो आम जरूरत लायक एक बढ़िया सा हिन्दी का मुक्त स्रोत का वर्तनी जाँचक उपलब्ध हो सकेगा. और बहुत संभव है कि आने वाले कुछ समय में यह ओपनऑफ़िस के नए संस्करणों में अंतर्निर्मित आएगा, और आपको इसे अलग से संस्थापित करने की आवश्यकता ही नहीं होगी.

तो, अंततः आपने अपने लिए हिन्दी का वर्तनी जाँचक संस्थापित कर ही लिया.

आपको बधाइ.

अरे नहीं, ऊपर तो गलत लिखा गया था, जिसे मेरे वर्तनी जाँचक ने बता दिया. आपको बधाई!

पुनश्चः अगर आपको इन चरणों में कोई समस्या आती है, या आप ओपनऑफ़िस में हिन्दी वर्तनी जाँचक संस्थापित करने में सफल नहीं हो पाते हैं तो टिप्पणियों के जरिए निःसंकोच अपनी समस्याएँ रखें. उनका निदान इसी स्थल पर देने की कोशिश की जाएगी.
**-**

एक टिप्पणी भेजें

हैरान हू यह देख कर कि इतनी मेहनत से तैयार की गयी पोस्ट पर एक भी टिप्पणी नही आयी । यह हमारी हिन्दी भाषा का दुर्भाग्य है कि लोग कुत्ते बिल्ली व नाश्ते के चित्र वाली पोस्ट पर तो 100 50 टिप्पणी दे देते है । अमूल्य जानकारी के लिये रवी भाई आपका अभार ।

बेनामी

I install OpenOffice.org 3.2.0 but I don't found dictionary.lst file for changing.

Pls help me for Hindi spelling checking.

बेनामी

ओपन अफिस इनस्टल करते समय पहला पेज में next करने के वाद दुसरा पेज में next अप्शान डेड दिखाता है और इनस्टल नहीं हो रहा है। अत: कृपया कोइ मुझे सहायता करें जिससे कि हम ओपन अफिस इनस्टल कर सके।

बेनामी

हिन्‍दी वर्तनी जांचक जो कम ही सही अभी काम चलाउ स्थिति में आगे बढा है, उम्‍मीद है इसको शीघ्र अपना हक मिलेगा और हिन्‍दी को उसकी सही जगह।

हिन्‍दी में कम्‍प्‍यूटर पर काम करने, प्रोग्राम बनाने, टाईपिंग को सुविधाजनक बनाने, अनुवाद और यहां तक कि इंटरनेट पर ईमेल खाता भी हिन्‍दी में बनने लगेगा तो संभवत: हिन्‍दी वास्‍तव में बिन्‍दी सहित सुहागन बन जाएगी अन्‍यथा माथे की बिन्‍दी उसकी कोई रक्षा नहीं करेगी।

आपको एवं इस प्रकार के योगदानो के लिए बहुत-बहुत धन्‍यवाद।
ख्‍यालीराम
जयपुर, राजस्‍थान

बेनामी

this is most useful

रवि जी हार्दिक धन्यवाद । वे निरंतर हिंदी की भलाई हेतु प्रयास कर रहे हैं । साधुवाद

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

अन्य रचनाएँ

[random][simplepost]

व्यंग्य

[व्यंग्य][random][column1]

विविध

[विविध][random][column1]

हिन्दी

[हिन्दी][random][column1]
[blogger][facebook]

तकनीकी

[तकनीकी][random][column1]

आपकी रूचि की और रचनाएँ -

[random][column1]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget