ब्लॉगर के सारे चिट्ठे एडसेंस विज्ञापनों से मुक्त!

.

ब्लॉगर के चिट्ठे विज्ञापन मुक्त कैसे पढ़ें

ब्लॉगर के कुछ चिट्ठे कल देरी से लोड हो रहे थे. स्थानीय सर्वरों में कुछ पंगा हो गया होगा. तो मैंने सोचा कि प्रॉक्सी - पीकेब्लॉग्स की शरण ली जाए, जिसने ब्लॉगर पर प्रतिबंध के दौरान हम सब भारतीय चिट्ठाकारों की बहुत मदद की थी.

और, ये क्या? चिट्ठों में से गूगल के एडसेंस विज्ञापन ग़ायब?

तो दोस्तों, अगर गूगल का एडसेंस विज्ञापन अगर आपकी आत्मा को घायल करता है, चिट्ठा पढ़ने के दौरान खीज पैदा करता है, तो पीकेब्लॉग्स जैसे प्रॉक्सी की शरण ले सकते हैं.

परंतु, यहाँ पीकेब्लॉग्स भी व्यावसायिक हो गया दीखता है. उसने एडसेंस के विज्ञापनों को तो कुचल डाले, परंतु अपना स्वयं का पारदर्शी सा विज्ञापन डाल दिया, जो कि नीचे स्थिति पट्टी पर तैरता रहता है और अनजाने में क्लिक भी हो सकता है अतः इसका इस्तेमाल करते समय जरा होशियार रहें. परंतु पीकेब्लॉग्स जैसे दर्जनों अन्य प्रॉक्सी भी तो हैं - और बहुतेरे विज्ञापन मुक्त हैं.

.

.

पीकेब्लॉग्स (http://pkblogs.com ) के जरिए चिट्ठों को पढ़ने के लिए पीकेब्लॉग्स के यूआरएल में अपना चिट्ठा नाम जोड़ दें, बस. उदाहरण के लिए पीकेब्लॉग्स के जरिए इस चिट्ठे को पढ़ने के लिए, यह यूआरएल इस्तेमाल करें - http://pkblogs.com/raviratlami

तो फिर देर किस बात की? अपने ब्लॉगर बुकमार्क - पुस्तचिह्नों को सिरे से बदल डालें - उसे पीकेब्लॉग जैसे प्रॉक्सी से रूट करें और विज्ञापन मुक्त चिट्ठा पढ़ें - शांति से, बगैर रक्तचाप बढ़ाए!


**-**
व्यंज़ल

(यह व्यंज़ल आज की चिट्ठाचर्चा का हिस्सा था, परंतु यहाँ फिर से उद्घृत किया जा रहा है.)

बात व्यावसायिकता की

हमने जरा सी बात की व्यावसायिकता की
उन्होंने दुकानें सज़ा लीं व्यावसायिकता की

मुँह मोड़ लिए हैं ‘लंगोटिया यारों' ने यारों
क्या जुर्म है बातें करना व्यावसायिकता की

मत करो शिकवा अपने काम में वज़न की
डालकर देखो जरा वज़न व्यावसायिकता की

लोग असफल हो गए, शायद उन्हें नहीं पता
मुहब्बत में भी जरूरी है व्यावसायिकता की

रवि भी चल पड़ा है अब दीवानों के रास्ते
हयात में देखे संभावना व्यावसायिकता की

/**-**/

विषय:

एक टिप्पणी भेजें

आप अपने ब्लाग की खूबसूरती काहे कम कर रहे हैं.जब 'एड्स'नहीं होगा तो कैसा लगेगा!

यह बात आपने ख़ूब कही!

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

[blogger][facebook]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget