टेढ़ी दुनिया पर रवि रतलामी की तिर्यक, तकनीकी रेखाएँ...

असफल राज्य

पटना के बेऊर जेल में बंद पप्पू यादव के लिए बिहार से बाहर कोई ऐसा जेल ढूंढा जा रहा है, जहाँ पर वह जश्न नहीं मना सके, दरबार नहीं लगा सके और मोबाइल फोन से मंत्रियों से बात नहीं कर सके. सीबीआई द्वारा सर्वोच्च न्यायालय को ऐसे 6 जेलों की सूची भी दी जा चुकी है. जेल में ही रहकर वे लोक सभा का चुनाव तो जीत ही चुके हैं

एक पूर्णत: असफल हो चुके राज्य का इससे बेहतरीन उदाहरण और क्या हो सकता है?

कल को किसी कक्कू करीमी को जेल में रखने के लिए भारत से बाहर किसी अन्य देश में, मज़बूत-सुरक्षित जेल की तलाश होगी. इसके लिए हमें अभी से खोजबीन प्रारंभ कर देनी चाहिए अन्यथा ऐन मौके पर समस्या उत्पन्न हो सकती है. धन्य है सरकार!

*-*-*
ग़ज़ल
-0-0-
कहीं गुम हो गई सरकार
जेलों में लग रहे दरबार

लगी है लाइन में जनता
पपुआ की करती जयकार

मुजरिम हो गए हैं नरेश
और हैं फरियादी बदकार

मुल्क के महीपति होंगे
सरगनाओं के भी सरदार

रवि तुझे कुछ करने को
अब तो है खासा दरकार

*-*-*
विषय:

एक टिप्पणी भेजें

हाल में अन्ना भी मजे से थे कैद में, उसे कैद कहें चाहे कोई अच्छा सा नाम दें,अब यह बात अलग है…

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

अन्य रचनाएँ

[random][simplepost]

व्यंग्य

[व्यंग्य][random][column1]

विविध

[विविध][random][column1]

हिन्दी

[हिन्दी][random][column1]
[blogger][facebook]

तकनीकी

[तकनीकी][random][column1]

आपकी रूचि की और रचनाएँ -

[random][column1]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget