October 2016

व्यंग्य जुगलबंदी : मेरी तेरी उसकी दीवाली

मेरी तेरी उसकी दीवाली औरों की तरह इस बार मैं भी, स्वतःस्फूर्त, भरा बैठा था. जम के दीपावली मनाऊँगा. पर, पूरी तरह देसी, राष्ट्रीय किस्म की...

ब्रिटिश लाइब्रेरी अंततः हिंदीमय हुआ...

भोपाल की ब्रिटिश लाइब्रेरी - वर्तमान नाम विवेकानंद लाइब्रेरी में अंग्रेज़ी और पश्चिमी (जर्मन, फ्रेंच) आदि भाषाओं की किताबें ही मिलती थीं. ज...

क्या क्या जांच कर के लें?

पेट्रोल जांच कर लो, डीजल, गैस जांच कर लो, आटा दाल जांच कर लो। नोट भी जांच कर लो। गोया आदमी नहीं जांच मशीन हो!

ट्विटर, फ़ेसबुक पर आप किस तरह से खांसते छींकते हैं?

यूँ, सोशल मीडिया में लोग मुखौटे लगाए मिलते हैं, परंतु इन मुखौटों में थोड़ा और पॉलिश करने की जरूरत अब आ ही गई समझो!

व्यंग्य जुगलबंदी - पुनर्धर्मभीरूभव:

  पुनर्धर्मभीरूभव: बहुत पुरानी बात है. धरती पर एक बार एक इंसान गलती से बिना धर्म का, नास्तिक पैदा हो गया. उसका कोई धर्म नहीं था. उसका कोई...

पाओ जवाब आसानी से!

हिंदी उपयोगकर्ताओं (को सिखाने) के लिए गूगल ने जोरदार विज्ञापन अभियान निकाला है -   कि, अब आप सर्च आदि बहुत सारे काम हिंदी में बोल कर भी क...

क्या कभी आप भी गाय की सवारी करना चाहेंगे...?

कूल काऊ ट्रैकिंग - एक विज्ञापन की तस्वीर. असली. कोई फ़ोटोशॉप्ड नहीं, कोई नकली नहीं. सवार के मुख पर प्रसन्नता की लकीरें बताती हैं कि यह कित...

क्लाउड कंप्यूटिंग, फॉग कंप्यूटिंग, रेन कंप्यूटिंग, विंड, स्टार्म...

कंप्यूटिंग की दुनिया आखिर कहां जा कर रुकेगी?

हास्य व्यंग्य की जुगलबंदी - बदलता मौसम

इस सप्ताह व्यंग्य की जुगलबंदी का विषय था - बदलता मौसम मालवा क्षेत्र में मौसम के बदलाव का पूर्वानुमान या फिर यूं कहिए कि बदलते मौसम की भवि...

साढ़े तीन सौ रुपए में कंप्यूटर!

पाई जीरो। 5 डॉलर का कंप्यूटर। वो भी क्रेडिट कार्ड साइज का आधा। पर, शक्ति में भरपूर। मल्टीमीडिया, एचडीएमआई युक्त! एक ले ही लें?

खाने के साथ चम्मच, कटोरी भी खाओ!

क्या ऐसा नहीं हो सकता कि खाने की जरूरत ही न रहे, देख कर ही स्वाद आ जाए और पेट भर जाए?

आपने कितने प्रकार के कद्दू खाए हैं?

मैंने तो, खैर इतने देखे भी नहीं थे!

स्वच्छता अभियान के मरफ़ी के नियम

स्वच्छता अभियान के मरफ़ी के नियम किसी भी दिए गए इलाके में, स्वच्छता अभियान के पहले और बाद में गंदगी की स्थिति में कोई परिवर्तन नहीं होता ह...

व्यंग्य के बहाने - 4 / अनूप शुक्ल

व्यंग्यकार, वृत्तांतकार अनूप शुक्ल व्यंग्य के बहाने सम-सामयिक व्यंग्य और व्यंग्यकारों पर अपनी ही शैली में ग़ज़ब की समीक्षा कर रहे हैं, और ज...

हां, मैं भी विंडोज़ 10 अनइंस्टाल करने की सोच रहा हूँ!

कल मैंने विंडोज़ 10 अपडेट के फटने - माने काम करते प्रोग्रामों के खराब हो जाने के बारे में अपनी व्यथा लिखी थी। और आज ये खबर भी आ गई! क्या...

विंडोज़ 10 अपडेट - तेरा सत्यानाश हो!

माना, कि अपडेट अच्छे भले के लिए किए जाते हैं, परंतु यहाँ तो मामला उल्टा हो रहा है भाई! हिंदी कंप्यूटिंग उपयोगकर्ता विंडोज 10 पर अपडेट होने ...

आइए, अगांधीगिरी की सर्जिकल स्ट्राइक मारें

वो मारा! बुद्ध और गांधी का देश बदले की हिंसक आग में सुलग रहा था. जल रहा था. कुछ इस तरह कि उस आग में स्वयं जला जा रहा था. इससे पहले इतनी आग ...