हमें भी चाहिए एक अदद नेतारबॉक्स!

लीजिए सुनिए! वैज्ञानिकों ने एक ऐसा कैटरबॉक्स बना लिया है जिसे बिल्लियों के गले में टांगने के बाद उसके मुँह से निकली हुई मियाँऊँ को मनुष्य (के समझने ) की आवाज में रूपांतरित किया जा सकता है।
अब, आपको नहीं लगता है कि हमारे नेताओं के श्रीमुख से निकलने वाले उवाचों के सही सही अर्थों के लिए नेतारबॉक्स बनाना चाहिए? फिर ये समस्या नहीं होगी कि उन्हें संदर्भ से बाहर समझा गया या उन्हें गलत उद्धृत किया गया।

टिप्पणियाँ

विशाल लाइब्रेरी में से पढ़ें >

अधिक दिखाएं

---------------

छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें.

इंटरनेट पर हिंदी साहित्य का खजाना:

इंटरनेट की पहली यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित व लोकप्रिय ईपत्रिका में पढ़ें 10,000 से भी अधिक साहित्यिक रचनाएँ

हिन्दी कम्प्यूटिंग के लिए काम की ढेरों कड़ियाँ - यहाँ क्लिक करें!

.  Subscribe in a reader

इस ब्लॉग की नई पोस्टें अपने ईमेल में प्राप्त करने हेतु अपना ईमेल पता नीचे भरें:

FeedBurner द्वारा प्रेषित

ऑनलाइन हिन्दी वर्ग पहेली खेलें

***

Google+ Followers

फ़ेसबुक में पसंद करें