सोशल मीडिया में देवनागरी में धड़ल्ले से कैसे लिखें?

सोशल मीडिया के निर्विवाद बादशाह - फ़ेसबुक ने हाल ही में बड़े गर्व से घोषणा की कि अब आप फ़ेसबुक में आसानी से हिंदी – माने देवनागरी में लिख सकते हैं. इसके लिए उसने एक औजार भी प्रस्तुत किया जो फ़ेसबुक उपयोगकर्ता के सामने इनपुट बक्से में वैकल्पिक रूप से उपलब्ध रहेगा. यह औजार है रोमन फ़ोनेटिक देवनागरी टाइपिंग – जिसका लब्बोलुआब ये हुआ कि आपको राम लिखने के लिए ram कुंजी दबाना होगा. वैसे, यदि आप थोड़ी नजदीकी दृष्टि डालेंगे तो आप पाएंगे कि कोई भी सोशल मीडिया हो – चाहे फ़ेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर या वाट्सएप्प – हिंदी सामग्री भरपूर उपयोग में ली जा रही है – मगर उसमें देवनागरी हिंदी की मात्रा अभी भी बहुत कम है – लोगबाग अभी भी रोमन हिंदी में ही काम चला ले रहे हैं, जो बेहद अजीब बात है. और, शायद इसी बात को ताड़कर, भले ही अब उतनी जरूरत नहीं रह गई हो, फिर भी, फ़ेसबुक ने अपना नया देवनागरी टाइपिंग टूल प्रस्तुत किया. अब जब सब तरफ चहुँओर – कंप्यूटरों से लेकर मोबाइल फ़ोनों – सभी में देवनागरी टाइप करने की उन्नत सुविधाएँ उपलब्ध हो गई हैं, तो हिंदी जनता को जवाब देना ही चाहिए कि वो क्यों अभी तक रोमन हिंदी में चिपकी पड़ी है? रोमन हिंदी बेहद उबाऊ, बहुधा अर्थ का अनर्थ करने वाला, घोर अपठनीय होता है, और अब जबकि फ़ेसबुक ने भी सोशल मीडिया में सक्रिय हिंदी वालों को ललकार दिया है तो रोमन हिंदी में सक्रिय लोगों को देवनागरी अपनाना ही चाहिए.

अब सवाल ये है कि आखिर देवनागरी में लिखें तो कैसे, और किस टूल से? यदि आप पहले से ही देवनागरी में लिख रहे हैं तो अपनी उत्पादकता बढ़ाने – माने और अधिक तेज़ी से, और अधिक शुद्धता से देवनागरी में कैसे लिखें? आइए, आज पड़ताल करते हैं - आपके लिए उपलब्ध कुछ शानदार हिंदी टाइपिंग टूल के बारे में – कौन सा टूल किस प्लेटफ़ॉर्म के लिए बेहतर होगा?

मैं कोई पिछले पंद्रह वर्षों से प्रायः सभी किस्म के कंप्यूटरों और कंप्यूटिंग उपकरणों पर हिंदी टाइपिंग का उपयोग धड़ल्ले से करता आ रहा हूँ, और मैंने आमतौर पर, बेहतर की तलाश में सभी प्रमुख टाइपिंग टूल को एकाध बार तो आजमाया ही है. इन्हीं में से चुनकर, आपके लिए कुछ टाइपिंग टूल की जानकारी प्रस्तुत करूंगा जिसे प्रयोग कर आप सोशल मीडिया में अपनी गतिविधि में चार चाँद लगा सकते हैं. यहाँ पर कुछ तकनीकी अनुमान हम स्वीकार कर लेते हैं कि आप विंडोज़ पीसी और एंड्रायड स्मार्टफ़ोन और टैबलेट का उपयोग कर रहे हैं क्योंकि आमतौर पर भारत में यही लोकप्रिय हैं, और हम इन्हीं के लिए उपलब्ध हिंदी देवनागरी टाइपिंग टूल के बारे में चर्चा करेंगे.

पहले हम लेते हैं स्मार्टफ़ोन को. आप आश्चर्य करेंगे कि आपके हाथों में उपलब्ध नए स्मार्टफ़ोन में आपके पुराने डेस्कटॉप कंप्यूटर से भी ज्यादा कंप्यूटिंग ताकत है. यदि थोड़ा भी उन्नत किस्म का हुआ तो हो सकता है कि आपके स्मार्टफ़ोन में एक नहीं, दो नहीं, आठ-आठ प्रोसेसर (कंप्यूटर के सिंगल सीपीयू मदर बोर्ड जैसा आठ) लगे हों. चार प्रोसेसर तो आम बात हैं, और बेहद किफ़ायती दामों वाले फ़ोनों में भी होते हैं. और, आपके ये स्मार्टफ़ोन आपके लिए हिंदी टाइप करने में हर तरह के उन्नत कार्य कर सकने में सक्षम होते हैं.

स्मार्टफ़ोनों में उपलब्ध हिंदी टाइपिंग की सुविधाएँ –

फ़ेसबुक की हालिया घोषणा को भूल जाएँ. जो हिंदी टाइपिंग का रोमन ट्रांसलिट्रेश औजार उनके द्वारा अभी जारी किया गया है, वो इंटरनेट पर ऑनलाइन टूल और डेस्कटॉप तथा स्मार्टफ़ोनों में बहुत पहले से उपलब्ध है, और आमतौर पर हिंदी में सक्रियता से काम करने वालों के लिए बेकार है. क्योंकि चार हिंदी अक्षर वाले शब्द को टाइप करने के लिए छः से आठ कुंजियां दबानी पड़ती हैं और ट्रायल व एरर अपनाना पड़ता है. तो सवाल ये है कि सर्वश्रेष्ठ टूल कौन सा है? सर्वश्रेष्ठ टूल हर उपयोगकर्ता के लिए भिन्न हो सकता है, और यदि आप अपनी हिंदी टाइपिंग में पहले से ही किसी टूल में मास्टर हैं, तो आपको अपना हिंदी टाइपिंग टूल बदलने की जरूरत नहीं है. फिर भी, यदि आप अपने स्मार्टफ़ोन के लिए किसी सर्वश्रेष्ठ हिंदी टाइपिंग टूल की तलाश में हैं तो प्ले स्टोर से स्विफ़्टकी (swiftkey) इंस्टाल करें, और इंस्टाल करने के बाद उसमें हिंदी कीबोर्ड एनेबल करें. यह टूल निःशुल्क है.

हिंदी टाइपिंग के लिए, स्विफ़्टकी क्यों सर्वश्रेष्ठ है? – स्विफ़्टकी विश्व की सभी प्रमुख भाषाओं में टाइपिंग टूल उपलब्ध करवाता है और इसकी टीम केवल टाइपिंग टूल में बेहतर गुणवत्ता प्रदान करने के लिए ही काम करती है. हिंदी में स्मार्टफ़ोनों में टचस्क्रीन सुविधा के कारण आपको कीबोर्ड रटने की वैसे भी कोई आवश्यकता नहीं है, क्योंकि सब सामने रहता है, फिर भी यह आसानी से याद हो जाने वाले हिंदी वर्णमाला तथा बारह-खड़ी वाला कुंजीपट लेआउट का प्रयोग करता है. साथ ही इसमें कई तरह की उन्नत सुविधाएं हैं. जैसे कि यदि आपको रोमन ट्रांसलिट्रेशन टूल से ‘क्वचिदन्यतोअपि’ जैसे कुछ हिंदी-संस्कृत का जटिल शब्द लिखने को कहा जाए तो बड़ी कठिनाई होती है, और कई बार असंभव हो जाता है. परंतु इस टूल में ऐसे जटिल शब्दों को टाइप करने के लिए त्रि-स्तरीय कुंजीपट उपलब्ध हैं और वे आपके द्वारा टाइप किए जा रहे शब्दों-अक्षरों का पूर्वानुमान लगा कर आपके लिए शानदार विकल्प भी पेश करते हैं. आइए, इसे जरा चित्रों से समझें –

जैसे ही आप क टाइप करते हैं, आपके सामने प्रेडिक्टिव टैक्स्ट के विकल्प आते हैं जो आपके पूर्व के कार्य पर निर्भर होते हैं. यदि आपको इनमें से कुछ नहीं चुनना है तो नीचे बारह खड़ी में से चुन सकते हैं, वह भी नहीं चाहिए, तो क्षत्रज्ञ लिखे बटन को टच करें.

clip_image002

क्षत्रज्ञ बटन को टच करने पर कुंजी पट का एक नया लेवल खुलता है जिसमें आपको और विकल्प मिलते हैं – आप देखेंगे कि न सिर्फ ‘क’ के विभिन्न संयुक्ताक्षर वाले रूप बल्कि अन्य पौराणिक चिह्न आदि भी मिलते हैं.

clip_image004

जैसे ही आप कोई शब्द टाइप कर लेते हैं, यह प्रेडिक्टिव टैक्स्ट इनपुट से आपके पुराने उपयोग पैटर्न के हिसाब से एक नहीं बल्कि दो-दो शब्दों का भी एक साथ टाइप करने का सुझाव देता है. इससे आप महज कुछ ही कुंजी दबा कर पूरा वाक्य टाइप कर सकते हैं.

clip_image006

इसमें केवल यही सुविधा नहीं है बल्कि फ्लो टाइपिंग की सुविधा भी है. आप अपनी उँगली उठाए बिना ही शब्दों में निहित अक्षरों को छूकर बेहतर और तेजी से टाइप कर सकते हैं. उदाहरण के लिए कहानी टाइप करने के लिए आपको सीक्वेंस में क ह न को छूना भर है, और कहानी टाइप हो जाएगा. थोड़े से प्रैक्टिस से आप इसमें महारत हासिल कर सकते हैं और बेहद सुविधाजनक तो है ही, आपकी उंगलियों को राहत भी देता है.

अपने स्मार्टफ़ोन में बोलकर टाइप करें –

प्रसिद्ध कथाकार सूरज प्रकाश सोशल मीडिया में अति सक्रिय हैं. वे फ़ेसबुक, ट्विटर और ब्लॉग पर शुद्ध देवनागरी हिंदी में लिखते हैं और क्या आप अंदाजा लगा सकते हैं कि वे ये कैसे करते हैं? वे कोई पिछले सालेक भर से अपने स्मार्टफ़ोन में बोल कर ही टाइप करते हैं!

जी हाँ, गूगल वाइस लेखन नामक निःशुल्क उपलब्ध टूल के जरिए वे यह कार्य बखूबी कर रहे हैं. ऊपर से अब आपको वाइस टाइपिंग के लिए ऑनलाइन रहने की भी जरूरत नहीं. हिंदी के लिए ऑफ़लाइन डेटा डाउनलोड हो जाता है जिससे आप कहीं भी कभी भी बोलकर हिंदी देवनागरी में लिख सकते हैं. इसके लिए गूगल इनपुट तथा गूगल वाइस इनपुट टूल इंस्टाल कर हिंदी लैंग्वेज पैक प्ले स्टोर से इंस्टाल करें. यकीन मानिए, इसका उपयोग बेहद आसान है और आश्चर्यकारी है. इतना ही नहीं, आप हिंदी में बोलकर कमांड भी दे सकते हैं.

अपने स्मार्टफ़ोन में लिखकर टाइप करें –

जी हाँ, आपने सही पढ़ा.

आपका देवनागरी हिंदी में लिखा हस्तलेख अब आपका स्मार्टफ़ोन समझ जाता है और उसे डिजिटली कन्वर्ट कर सकता है जिसका उपयोग आप सोशल मीडिया में सक्रिय बने रहने के लिए कर सकते हैं. यदि आपको कुंजियों को टच कर लिखने में सहज नहीं हैं, और अपने प्रिय पेन-पेंसिल कागज जैसी फ़ीलिंग छोड़ना नहीं चाहते तो कोई सौ रुपल्ली (वैसे आप अपनी उँगली का बढ़िया उपयोग कर सकते हैं) में डिजिटल पेंसिल खरीद लाएँ और गूगल हस्तलेखन इनपुट हिंदी इंस्टाल कर इसके जरिए अपना काम करें

आपके विंडोज पीसी के लिए सबसे बढ़िया टूल –

अब तो तमाम तरह के जुगाड़ हैं, परंतु जनता बहुधा ट्रांसलिट्रेशन का ही उपयोग करती है. यही सोचकर फ़ेसबुक ने भी पहले से उपलब्ध ट्रांसलिट्रेशन टूल को धो-पोंछकर नया रूप रंग देकर फिर से जारी कर दिया. परंतु यदि आपको अपनी उत्पादकता बनाए रखना है, सक्रियता और शुद्धता बनाए रखनी है, टाइपिंग में गुम हो जाने (राम का रामा टाइप हो जाने या न होने) के फ्रस्ट्रेशन से बचे रहना चाहते हैं तो इनस्क्रिप्ट कुंजीपट अपनाएँ. यह सभी आधुनिक पीसी, विंडोज, मैक, लिनक्स आदि में डिफ़ॉल्ट रूप में मौजूद होता है, बस इनेबल करना होता है और आमतौर पर हर एप्लिकेशन हर प्रोग्राम में चलता है. इसे सीखना बेहद आसान है. यह हिंदी वर्णमाला के अनुक्रम के आधार पर बना है और टचटाइपिंग – यानी बिनदेखे शीघ्रता से टाइप करने के लिए डिजाइन किया गया है. इसके कई टाइपिंग ट्यूटर भी हैं जिन्हें डाउनलोड कर आप आसानी से इसे सीख सकते हैं. जब यूनिकोड नहीं था, इनस्क्रिप्ट कुंजीपट नहीं था, तो हिंदी इंटरनेट व हिंदी कंप्यूटिंग के शुरुआती दिनों में मैंने शुषा, रेमिंगटन, कृतिदेव, चाणक्य, रोमन, ट्रांसलिट्रेशन, फ़ोनेटिक आदि न जाने कितने कुंजी पट उपयोग किए और फेंक दिए. सभी में समस्याएँ होती थीं. जब से मैंने इनस्क्रिप्ट अपनाया, हिंदी टाइपिंग का लाइफ़ हो गया झिंगालाला. इस आलेख को भी मैंने इनस्क्रिप्ट से टाइप किया है, और कुंजीपट को बगैर देखे – 40 शब्द प्रतिमिनट की रफ़्तार से भी अधिक. मैं अपनी देवनागरी हिंदी टाइपिंग में पास तो हो गया ना?

हिंदी टाइपिंग संबंधी और अधिक तकनीकी जानकारियाँ आप मेरी निम्न साइट में दिए गए लिंक से भी ले सकते हैं -

http://rachanakar.org

एक टिप्पणी भेजें

शानदार ! जबरदस्त ! जिंदाबाद ! :)

आफिस में कृति देव कीबोर्ड जैसे भीड़ भाड़ के बीच मे मेरा इन्स्क्रिप्ट कीबोड बड़े तेजी से दोड़ता रहता है. कम्प्यूटर आपरेटर वाले का मुंह ताकते रह जाता है.. हमारा कीबोड स्टाईल खटर पिटिर नही है.

आपकी इस पोस्ट को आज की बुलेटिन जन्मदिवस - महाराणा प्रताप, गोपाल कृष्ण गोखले और ब्लॉग बुलेटिन में शामिल किया गया है। कृपया एक बार आकर हमारा मान ज़रूर बढ़ाएं,,, सादर .... आभार।।

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

[blogger][facebook]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget