शनिवार, 16 जनवरी 2016

साहित्य के डिजिटल सफर में आप सादर आमंत्रित हैं - ऐप्प की दुनिया में आएं

हिंदी का विस्तार चहुँओर हो रहा है. इंटरनेट पर तो धूम मची है. फ़ेसबुक-व्हाट्सएप्प पर हर कोई जो देवनागरी (या कि अलाल लोग रोमन हिंदी ) में टाइप करने की शिक्षा पा चुका है, हिंदी में पोंक रहा है. बहरहाल, यदि आप साहित्यिक पठन पाठन व लेखन में रुचि रखते हैं तो आपके लिए एक अदद नया ऐप्प आ गया है - मातृभारती.

मातृभारती ऐप्प एंड्रायड व आईओएस के लिए उपलब्ध है. इसकी बड़ी खासियत यह है कि यह नए लेखकों को आमंत्रित तो करती ही है, आपकी रचना के एवज में भुगतान का वादा करती है. यह ऐप्प निःशुल्क उपलब्ध है और इसकी सारी सामग्री भी निःशुल्क पठन पाठन के लिए उपलब्ध है.

ऐप्प को आप प्लेस्टोर पर Matrubharti से सर्च कर इंस्टाल कर सकते हैं.

संदर्भवश, आपको बताते चलें कि रचनाकार का भी ऐप्प है, आपके इस पसंदीदा ब्लॉग छींटे और बौछारें का भी, और तो और, वर्ग पहेली का भी ऐप्प है. तो देर किस बात की? इंस्टाल कीजिए! अब तो दुनिया ही ऐप्पों की है!

 

image

0 blogger-facebook

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

---------------------------------------------------------

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------