January 2015

आप कहेंगे कि ये मैं क्या और क्यों कह रहा हूँ.

तो यह केवल मैं नहीं कह रहा हूँ. बल्कि तमाम दुनिया के लोग, तमाम प्लेटफ़ॉर्म के लोग कहने लगे हैं और कह रहे हैं. और, अप्रत्याशित स्थानों से भी कह रहे हैं.

 

यह नया उदाहरण लें -

आज मैंने अपने नोटपैड++ का नया अपडेट इंस्टाल किया.

अपडेट इंस्टाल होने के बाद जब इस प्रोग्राम को चलाया तो हैरान रह गया.

इसमें एक न्यू पेज का विंडो अपने आप खुल गया और एक मैक्रो से अपने आप टाइप होने लगा -

Freedom of expression is like the air we breathe, we don't feel it, until people take it away from us.

For this reason, Je suis Charlie, not because I endorse everything they published, but because I cherish the right to speak out freely without risk even when it offends others.
And no, you cannot just take someone's life for whatever he/she expressed.

Hence this "Je suis Charlie" edition.
- #JeSuisCharlie

नीचे स्क्रीनशॉट देखें -

image

प्रकटतः आतंकवादियों द्वारा शार्ली ऐब्दो पर किया हमला बड़ा बूमरैंग साबित हो चुका है. 70 हजार प्रतियों के सर्कुलेशन वाले अखबार का विक्रय आंकड़ा 70 लाख से पार कर गया और कई भाषाओं में इसके अनुवाद निकल गए. और, "मैं भी शार्ली हूँ" की गूंज नोटपैड++ जैसे प्रोग्रामों के भीतर भी पहुंच गई.

भाषाई दीवार को ढहाने की कोशिशों में, जमकर एक और हथौड़ा.

आपके मोबाइल उपकरणों (एंड्रायड तथा एप्पल स्मार्टफ़ोनों व टैबलेटों में) के लिए  उपलब्ध गूगल ट्रांसलेट ऐप्प में एक और सुविधा जोड़ी गई है.

अब आप किसी दूसरी भाषा में लिखी या छपी सामग्री को अपने मोबाइल उपकरण के कैमरे से देखें, और तुरंत ही उसका अपनी मनपसंद भाषा में अनुवाद पढ़ें!

image

यानी, यदि आप दिल्ली (या भोपाल की भी,) की किसी गली में घूम रहे हों और आपको किसी दुकान या मकान में लिखे साइन बोर्ड की अंग्रेज़ी समझ में नहीं आती है, तो गूगल ट्रांसलेट ऐप्प खोलें, अंग्रेजी भाषा में लिखे पाठ या साइनबोर्ड की तरफ अपने मोबाइल का कैमरा पाइंट करें. यह पाठ को स्वयं स्कैन करेगा और आपकी अपनी भाषा में तुरंत अनुवाद कर, अपने स्क्रीन पर ही पेश करेगा. यानी - पढ़े फारसी बोले (बताए) हिंदी! और, न केवल हिंदी, बल्कि ध्वन्यात्मक इनपुट के लिए अब कन्नड़, गुजराती, तमिल, तेलुगु, बांग्ला तथा मराठी में समर्थन उपलब्ध है.

 

जाँच परख के लिए, मैंने शर्ली ऐब्दो के नवीनतम - 15 जनवरी का फ्रांसीसी भाषा में प्रकाशित अंक को डाउनलोड किया. हाँ, भाई, हाँ टोरेंट से. यहाँ और कहाँ मिलेगा भला!

तो, मुझे तो फ्रांसीसी नहीं आती. मैंने गूगल ट्रांसलेट ऐप्प चालू किया, और कंप्यूटर के स्क्रीन पर प्रदर्शित हो रही पत्रिका के पृष्ठों की ओर अपने मोबाइल का कैमरा पाइंट किया.

इसने पेज को स्कैन किया और तुरंत ही अंग्रेज़ी में इसका रीयल टाइम अनुवाद प्रस्तुत किया. हिंदी के लिए, अभी अनुवादों को डाउनलोड करने का विकल्प है, जिसे आप टैप कर पढ़ सकते हैं. वैसे, अनुवाद अभी पूरा पक्का नहीं है, मगर प्रोग्राम अभी सीढ़ियाँ चढ़ रहा है - दिन-ब-दिन निखर रहा है, सीख रहा है, और उत्तरोत्तर उत्तम होता जा रहा है.

image

अब गूगल ट्रांसलेट ऐप्प में आप बोलकर, लिखकर (टाइप कर तथा पेन जैसे उपकरण से टच-स्क्रीन पर घसीटी लिख कर)  तथा पाठ को स्कैन कर दो भाषाओं के बीच अनुवाद कर सकते हैं!

image

तकनीक का एक और करिश्मा. लगता है, अब आदमी का पीके बनने में कोई देर नहीं है, जब उसका आपसी संवाद - यानी  लिखने-पढ़ने-बोलने-समझने का सारा काम ऐं-वें ही होने लगेगा - भले ही वो भोजपुरिया हो कि चीनी!

यह ऐप्प कुछ भाषाओं के बीच अनुवादों के लिए ऑफलाइन भी काम करता है, परंतु बेहतर अनुभव के लिए अच्छी गति का इंटरनेट कनेक्शन हो तो अच्छा.

चेतन भगत का कहना है कि हिंदी को रोमन लिपि में लिखा जाना चाहिए.

 पण हिंया तो उल्टा हो रिया है. अपने अखबारों में तो रोमन लिपि को हिंदी में लिखा जा रिया है. हाथ कंगन को आरसी क्या - नीचे दिया गया चित्र देखें.

यानी आने वाला समय लिपि - भाषा मुक्त दुनिया!
बहुत ही भेस्ट!
 

बारंबार और सैकड़ों हजारों बार फारवर्ड मारे गए संदेशों के बीच यदि अलसुबह ऐसा कोई संदेश आ जाए तो समझ लीजिए कि आपका दिन बन गया और अच्छे दिन न सही, एक अच्छा दिन तो आ ही गया.

आप पूछेंगे कि ये क्या बला है? भाई, शुद्ध हिंदी में ये है मेरा गीकी न्यूईयर-रिसॉल्यूशन. अब समझ में आया? ठीक. तो, नियम भले ही कुछ कहें,  नीचे मेरे कुछ नववर्ष-संकल्प हैं. और, मैं तन-मन-धन यानी बेग-बोरो-स्टील, चाहे जैसे भी हो, राह के हर रोड़े को दूर कर इन्हें पूरी करने की कोशिश करूंगा.

  • · अपना छः महीना पुराना कंप्यूटर कबाड़ में फेंक कर (कोई बताएगा, पुराने कंप्यूटर की कोई रीसेल वेल्यू भी होती है क्या?) नया 4K रेज़ोल्यूशन वाला कंप्यूटर खरीदूंगा (आशीष clip_image001के नववर्ष संकल्प से प्रेरित, और समर्पित)

 

  • · अपना सद्यः खरीदा, सद्यः अद्यतन किया गया स्मार्टमोबाइल ओएलएक्स पर बेच कर विंडोज़10 वाला लूमिया / नेक्सस 7 / एप्पल आईफ़ोन 7 – इनमें जो भी पहले जारी होगा, वो खरीदूंगा (टीवी के विज्ञापनों और जेडडीनेट के फ्यूचरिस्टिक रीव्यू से प्रेरित).

 

  • · अपना एचडी 3डी स्मार्टटीवी एक्सचेंज में देकर नयी तकनीक का अल्ट्राएचडी 8K कर्व्ड-स्क्रीन 4डी टीवी खरीदूंगा. आप कहेंगे कि ये टीवी में 4डी नाम तो अब तक नहीं सुना. मैंने भी कौन सा सुना है, मगर तकनीक में छः महीने बहुत होते हैं. शायद 4डी आकर चला जाए, ऑब्सलीट हो जाए और 5डी भी आ जाए. या फिर सीधे ही 6डी दौड़ता चला आए! सो, संकल्प में अपनी तैयारी पूरी है.

 

  • · अपना बेसुरा बोस साउंडटच को फेंक कर नया, हजार गुना बढ़िया संगीत सुनाने वाले स्पीकर देवीलेट फैंटम को खरीदूंगा. वो भी एक ठो नहीं, पूरे पाँच. शायद आपमें से कुछ को यह नहीं मालूम हो कि शौचालय के निर्वाण जैसे वातावरण में बढ़िया वाईफ़ाई सिस्टम से संगीत सुनने का अलग ही आनंद है.

 

  • · मुझे मारूति से आगे की दुनिया देखनी है. सो, मैं अपनी विरासत में मिली कार को टेस्ला इलेक्ट्रिक कार से बदल दूंगा, और यदि गूगल सेल्फड्राइव कार बाजार में आई, तो फिर उसे ही खरीदूंगा – क्योंकि भारतीय सड़कों में कार चलाना वैसे भी अब दिनोंदिन मुहाल होता जा रहा है.

 

  • · अपने आपको और स्मार्ट बनाऊंगा – एक अदद स्मार्टवाच खरीदूंगा, और साथ ही अपने वेरियोग्लास चश्मे को गूगल ग्लास से बदल लूंगा.

 

  • · दपायरेटबे (अब ये न पूछना कि ये क्या है?) डाउन एंड आउट हो गया है तो क्या हुआ, तमाम अन्य टोरेंट साइटों से न्यूनतम 100 जीबी माल-मसाला हर माह डाउनलोड करूंगा. इसके लिए 4टीबी वाले 10 एक्सटर्नल हार्डडिस्क का ऑर्डर गूगल-मार्केटिंग सप्ताह में 50 प्रतिशत की अच्छी-खासी छूट के साथ पहले ही दे दिया है! और, वैसे भी 4जी टेक्नीक इस साल अपने देश में अपने जैसे गीकी लोगों के लिए ही तो आ रिया है!

 

नई टेक्नोलॉजी एडॉप्ट करने के मेरे संकल्पों को पूरा करने के लिए विश्व की तमाम कंपनियां नए, बेहतर उत्पाद जारी करने के लिए जी जान से लगी हुई हैं. अब, मेरे इन संकल्पों की राह में एकमात्र रोड़ा है मनी-फ़ैक्टर – मेरा बैंक बैलेंस. यदि मेरे इनबॉक्स में नित्य सैकड़ों की संख्या में आने वाले ऑनलाइन लॉटरी और विरासती संपत्ति के एकाध संदेश भी सही निकल गए, तो मानिए, मेरे ये सारे संकल्प पूरे हो जाएंगे.

तो, क्या आप मेरे लिए दुआ नहीं करेंगे? भई, मेरे ये संकल्प पूरे हों इसके लिए नहीं, बल्कि एकाध लॉटरी के या विरासती स्पैम-ईमेल सचमुच सही निकल जाएं इसके लिए!

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget