शनिवार, 28 नवंबर 2015

अपने एम एस वर्ड में लगाएँ कृतिदेव 010 से यूनिकोड फ़ॉन्ट परिवर्तक का मैक्रो

कृतिदेव 010 से यूनिकोड परिवर्तन हुआ और आसान - बस, एक क्लिक में!

 

तकनीकी हिंदी समूह के सक्रिय सदस्य श्री अनुनाद सिंह ने एम एस वर्ड के लिए कृतिदेव 010 से यूनिकोड हिंदी फ़ॉन्ट परिवर्तक मैक्रो तैयार किया है जो बहुत ही उम्दा किस्म का है. मैंने अब तक कई फ़ॉन्ट परिवर्तकों को आजमाया है, और यह उनमें से कई मामलों में उत्तम है. इसमें दस्तावेज़ की फ़ॉर्मेटिंग बनी रहती है तथा परिवर्तन भी तेज गति से होता है. फ़ॉन्ट परिवर्तन मैक्रो चलाने से पहले इस बात का खयाल अवश्य रख लें कि यदि आप कॉपी पेस्ट मैटर कन्वर्ट करना चाह रहे हैं तो पहले मैटर को सलेक्ट कर कृतिदेव फ़ॉन्ट में बदल लें.

वर्ड में कृतिदेव 010 से यूनिकोड हिंदी फ़ॉन्ट परिवर्तक मैक्रो स्थापित करने का तरीका -

 

इस लिंक से मैक्रो कोड का टैक्स्ट फ़ाइल डाउनलोड कर लें (श्री अनुनाद सिंह द्वारा तैयार किया गया) -

 

https://drive.google.com/file/d/0B3QLKzA0EHYWSHpBekRoazdjVUE/view?usp=sharing

 

इस फ़ाइल को नोटपैड में खोल कर इसका टैक्स्ट (कोड) सलेक्ट ऑल कर पूरा कॉपी कर लें.

 

अब एम एस वर्ड खोलें.

फिर view > macros > view macros > create पर क्लिक करें.

 

एक पेज खुलेगा जिसमें तीन चार लाइनों का कोड लिखा होगा। उन लाइनों को हटाकर
             उनके स्थान पर इस मैक्रो का कोड जो आपने कॉपी किया हुआ है, उसे पेस्ट कीजिये।  ऊपर मैक्रो फाइल मेनू में जाकर  इसे
             सेव कर लीजिये (ध्यान दीजिए, डॉक फाइल को सेव करने की बात नहीं की जा रही,  मैक्रो को
             सहेजने की बात की जा रही है)

आपका मैक्रो इंस्टाल हो गया है.


 
             अब इसे चला कर कृतिदेव 010 का मैटर यूनिकोड में बदलने  के लिये  यह करिये-

कृतिदेव 010 मैटर वाली फ़ाइल खोलिये या फिर वर्ड में कृतिदेव 010 में लिखा मैटर कॉपी पेस्ट कर डालिए और पूरा मैटर सलेक्ट कर कृतिदेव 010 में बदल दीजिए.

अब वर्ड मेनू में
             View  -- Macros -- View Macros  पर जाएँ और -
 
             फिर KrutiDev10_to_Unicode_Converter को सेलेक्ट करें और   'रन' पर क्लिक कर मैक्रो को चलाएँ।
 
             आपकी फाइल के आकार के आधार पर यह कुछ समय लेगा और आपका कृतिदेव 010 का मैटर यूनिकोड
हिंदी में बदल जाएगा।

 

कोई समस्या हो तो नीचे कमेंट बॉक्स है. और यदि यह बढ़िया काम करता है तो अनुनाद जी को धन्यवाद जरूर दें जिन्होंने हिंदी कंप्यूटिंग तकनीक की समृद्धि के लिए इस तरह के ढेरों आयोजन जुटाए हैं.

0 टिप्पणियाँ./ अपनी प्रतिक्रिया लिखें

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

----

नया! छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें. ---