मंगलवार, 21 जनवरी 2014

एक नूरा कुश्ती....

कुश्ती हो या दंगल, हमें क्या। चलिए, पहले सेहत बना लें।

6 blogger-facebook:

  1. अँडे खाने वाले रखे हुऐ हैं या फेँक कर मारने वाले ?

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. वैसे, अराजकता को खत्म करने के लिए, आजकल अंडों का उपयोग खाने के बजाए फेंक कर मारने में ही ज्यादा करना चाहिए! :)

      हटाएं
  2. वाह, सेहत के साथ समाचार।

    उत्तर देंहटाएं
  3. लोग आज पसंद भी नूरा कुश्ती ही करते हैं.असल कुश्ती करने वाले अब पहलवान भी कहाँ?हमारे यहाँ का राजनितिक परिदृश्य भी ऐसा हीहै.

    उत्तर देंहटाएं
  4. आजकल कुश्ती या दंगल करने वाले अखाड़ा में कम सविधान सभा और विधानसभा ही मिलगे और बचे हुए है वह शीत युद्ध करते मैदान या रोड़ में दिखाई देते है !

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

---------------------------------------------------------

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------