आसपास की कहानियाँ ||  छींटें और बौछारें ||  तकनीकी ||  विविध ||  व्यंग्य ||  हिन्दी || 2000+ तकनीकी और हास्य-व्यंग्य रचनाएँ -

एक नूरा कुश्ती....

कुश्ती हो या दंगल, हमें क्या। चलिए, पहले सेहत बना लें।

टिप्पणियाँ

  1. अँडे खाने वाले रखे हुऐ हैं या फेँक कर मारने वाले ?

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. वैसे, अराजकता को खत्म करने के लिए, आजकल अंडों का उपयोग खाने के बजाए फेंक कर मारने में ही ज्यादा करना चाहिए! :)

      हटाएं
  2. वाह, सेहत के साथ समाचार।

    उत्तर देंहटाएं
  3. लोग आज पसंद भी नूरा कुश्ती ही करते हैं.असल कुश्ती करने वाले अब पहलवान भी कहाँ?हमारे यहाँ का राजनितिक परिदृश्य भी ऐसा हीहै.

    उत्तर देंहटाएं
  4. आजकल कुश्ती या दंगल करने वाले अखाड़ा में कम सविधान सभा और विधानसभा ही मिलगे और बचे हुए है वह शीत युद्ध करते मैदान या रोड़ में दिखाई देते है !

    उत्तर देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

विशाल लाइब्रेरी में से पढ़ें >

अधिक दिखाएं

---------------

छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें.

इंटरनेट पर हिंदी साहित्य का खजाना:

इंटरनेट की पहली यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित व लोकप्रिय ईपत्रिका में पढ़ें 10,000 से भी अधिक साहित्यिक रचनाएँ

हिन्दी कम्प्यूटिंग के लिए काम की ढेरों कड़ियाँ - यहाँ क्लिक करें!

.  Subscribe in a reader

इस ब्लॉग की नई पोस्टें अपने ईमेल में प्राप्त करने हेतु अपना ईमेल पता नीचे भरें:

FeedBurner द्वारा प्रेषित

ऑनलाइन हिन्दी वर्ग पहेली खेलें

***

Google+ Followers

फ़ेसबुक में पसंद करें