टेढ़ी दुनिया पर रवि रतलामी की तिर्यक, तकनीकी रेखाएँ...

इंटरनेट ईश्वरीय वरदान है, तो फ़ेसबुक संक्रामक वायरल रोग जो 2017 में ओरकुट की तरह भस्म हो जाएगा!

 

भई, ये बातें बड़े-बड़े पंडित और शोध-कर्ता कह रहे हैं, तब तो मानना पड़ेगा!

image

image

जय हो!

(सलमान और उसके फ़िल्म की नहीं!)

एक टिप्पणी भेजें

यह तो होना ही है.किसी भी कार्य के निरंतर चलने में समरसता नहीं रहती. फैफबूक भी अब अपना चारम खोती जा रही हैं. और आये दिन होने वाले अपराधिक कृत्यों ने भी इसे लांछित कर दिया है.

पता नहीं २०१७ में देखेंगे।

ब्‍लॉगिंग जिन्‍दाबाद :)

ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन राष्ट्रीय बालिका दिवस और ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

बात सत्य है ..
जय हो ..

मुझे नहीं लगता। पुराने ऊब कर भागेंगे, नये जुड़ते चले जायेंगे।

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

अन्य रचनाएँ

[random][simplepost]

व्यंग्य

[व्यंग्य][random][column1]

विविध

[विविध][random][column1]

हिन्दी

[हिन्दी][random][column1]
[blogger][facebook]

तकनीकी

[तकनीकी][random][column1]

आपकी रूचि की और रचनाएँ -

[random][column1]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget