टेढ़ी दुनिया पर रवि रतलामी की तिर्यक, तकनीकी रेखाएँ...

एक टिप्पणी भेजें

अब तो चिपकने का बहाना भी मिल गया।

बाजार में रहने का एक नया उपाय,ग्राहक जाना नहीं जाना चाहिए.प्रतियोगिता का समय है.

ई-पण्डित की साइट खुल क्यों नहीं रही है ?

कोई अस्थायी समस्या मालूम होती है, अब खुल रही है। शायद केबल कटने से छायी भारतव्यापी समस्या का ही कुछ असर पड़ा हो।

भाई, ईपण्डित का सही लिंक यहाँ लिख दीजिये। आपके प्रोफाइल पर मिलते जुलते नामों की लंबी लिस्ट दिखती है, जिसमें कई ब्लोगस क्लिक करने पर बिना किसी पोस्ट के पाता हूं और फिर हर लिंक को क्लिक करने का धैर्य न होने के कारण खाली हाथ लौट आता हूं।

यह बात सही है. शायद ईपण्डित ने अपने मिलते जुलते नामों से कोई अन्य बंदा ब्लॉग न बना ले इसलिए उन्हें पंजीकृत कर रखा है. बहरहाल, उनका ताजा लिंक शायद यह है -

http://epandit.shrish.in/

आभार! वैसे किसी कारणवश वह पेज भी लोड नहीं हो पा रहा है।

nice one post sir i like it :)

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

अन्य रचनाएँ

[random][simplepost]

व्यंग्य

[व्यंग्य][random][column1]

विविध

[विविध][random][column1]

हिन्दी

[हिन्दी][random][column1]
[blogger][facebook]

तकनीकी

[तकनीकी][random][column1]

आपकी रूचि की और रचनाएँ -

[random][column1]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget