www.polycola.com एक अनोखा सर्च इंजन

image

(शामिख फराज)

पॉलीकोला एक नये तरीके का सर्च इंजन है. इसको अनोखा कहने के पीछे भी एक कारण है. इसकी विशेषता यह है कि इसमें जो भी जानकारी आप चाहते है, वो दो सर्च इंजन में एक साथ देखी जा सकती है.

इसका इतिहास भी थोड़ा अजीब है. इसकी शुरूआत 2005 में हुई. शुरू में इसका नाम "गाहूयूगल.कॉम" रखा गया लेकिन कुछ विवादों के कारण इसका नाम बदलना पड़ा फिर "पॉलीकोला" रखा गया. यह दूसरे सर्च इंजन के मुकाबले तीव्र है और कोई भी जानकारी खोजते समय 70% तक समय की बचत करता है. यह अमेरिकी और यूरोपी देशों में प्रसिद्ध है और बहुत प्रयोग किया जाता है.

इसमें कोई भी खोज एक साथ दो सर्च इंजन में तो देखी ही जा सकती है, इसके साथ ही इसमें सर्च इंजन चुनने की भी आज़ादी है. दरअसल यह पांच सर्च इंजन को सपोर्ट करता है. GOOGLE.com, YAHOO.com, AOL.com, ASK.com & BING.com. इन पांच सर्च इंजन में से आप जो भी चाहे दो सर्च इंजन चुन सकते है और इन दोनों सर्च इंजन में आपको वो लिंक दिखाई देंगे जो आप खोजना चाहते थे. इसमें सर्च बार के नीचे पांच सर्च इंजन की लिस्ट दिखाई देती है और इसी के बराबर दूसरी ओर भी पांच सर्च इंजन की लिस्ट दिखाई देती है. आपको एक तरफ पहला सर्च इंजन और दूसरी तरफ दूसरा सर्च इंजन चुनना है. फिर ऊपर दी गई सर्च बार में वो लिखे जो आप खोजना चाहते है. आपको आपके द्वारा खोजी गई जानकारी के लिंक एक ही वेब पेज पर दो सर्च इंजन में एक साथ दिखाई देंगे.

पॉलीकोला में आप कोई भी सर्च इंजन अपनी सुविधा के अनुसार बदल भी सकते हैं. मान लीजिए आप गूगल और याहू चुनकर कुछ सर्च कर रहे हैं. लेकिन आप खोजी गई जानकारी से संतुष्ट नहीं है तो अपने अनुसार सर्च इंजन बदल लीजिए. आप BING और AOL पर खोज कर सकते है या कोई भी दो जो आप चाहे चुन सकते हैं. इसमें जो जानकारी आप खोजना चाहते है उससे जुड़े कुछ शब्द लिख कर जब सर्च पर क्लिक करेंगे तब एक साथ एक ही वेब पेज पर आधे भाग में पहले सर्च इंजन पर आपके द्वारा खोजी गई जानकारी के लिंक दिखाई देंगे और वेब पेज के बाकी बचे आधे भाग में दूसरे सर्च इंजन पर लिंक दिखाई देंगे. एक साथ दोनों सर्च इंजन के लिंक खोले भी जा सकते हैं और अपनी सुविधा अनुसार चाहे तो एक सर्च इंजन के लिंक खोल ले और दूसरे को ऐसे ही रहने दे.

इसमें सर्च बार के ऊपर आपको web, images, video & shopping नाम के चार लिंक और भी दिखाई देंगे. यदि इनमें से किसी के बारे में जानकारी चाहिए तो पहले ये आप्शन चुने फिर सर्च करे. इसके साथ ही आप इसको अपना होम पेज भी बना सकते है और फैवरिट में भी जोड़ सकते हैं.

सर्च को तेज़ और आसान बनाने वाले कुछ टिप्स

सर्च से जुड़े की-वर्ड को जैसे ही सर्च इंजन में डाला जाता है, हजारों रिजल्ट मिलते हैं। अब समस्या शुरू होती है कि इनमें से कौन से पेज को खोलकर देखा जाए, जिसमें जरूरत के मुताबिक रिजल्ट मिल सके। एक-एक कर पेज खोले जाते है कभी जल्द ही रिजल्ट मिल जाते है और कभी कई घंटे लग जाते। गहन और सटीक सर्च के लिए सर्च इंजन की भाषा समझना जरूरी है। सर्च को तेज़ बनाने के लिए जानिए कुछ टिप्स-

की-वर्ड्स का चयन (Selection of Keywords)

सर्च के लिए आपको सही की-वर्ड का selection करना होता है। जैसे अगर holidays india से आपको मनचाहे रिजल्ट नहीं मिल रहे हैं तो india vacation को आजमा सकते हैं। अगर आपको शब्दों की सही स्पेलिंग नहीं आती तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। गूगल और याहू जैसे अधिकतर सर्च इंजन सही स्पेलिंग खुद-ब-खुद दिखा देते हैं।

कैटेगरी का चयन (Selection of Category)

कई बार सही कैटेगरी नहीं चुनने की वजह से भी सर्च में समस्या आ सकती है। जैसे अगर आप देश दुनिया की कोई खबर तलाश रहे हैं तो आप वेब की बजाय न्यूज कैटेगरी में जाइए। इसी तरह इमेज, ग्रुप, मैप आदि कैटेगरी को चुनकर आप सर्च को तीव्र कर सकते हैं।

प्रिपोजिशन हटाएं (Remove Prepositions)

सर्च इंजन इस तरह डिजायन किए गए हैं कि अधिकतर प्रिपोजिशन उनमे प्रयोग नहीं हैं जैसे and, of, for, in जैसे शब्दों को ये इंजन अपनी सर्च में शामिल नहीं करते। इसलिए बेहतर है कि की-वर्ड्स में इस तरह के शब्दों का प्रयोग नहीं किया जाए।

फ्रेज को कैसे तलाशें (How to search phrase)

मान लीजिए आपको the long and winding road एक साथ तलाशना है तो इसके लिए इन्वर्टेड कॉमा की मदद लेनी चाहिए। अगर आप इसे इन्वर्टेड कॉमा के बीच "the long and winding road" लिखकर सर्च करेंगे तो आपको केवल वे ही रिजल्ट मिलेंगे जिसमें ये सभी शब्द एक साथ इसी क्रम में हैं।

यदि वर्ड नहीं चाहिए (If word is not required)

कई बार ऐसा होता है कि आपको clinton पर सामग्री चाहिए पर वो नहीं जिसमें lewinsky के बारे में जिक्र हो। इसके लिए आप एक शब्द के बाद स्पेस देकर माइनस चिन्ह का प्रयोग कर सकते हैं। जैसे अगर आप clinton -lewinsky तलाशेंगे तो आपको वे ही रिजल्ट मिलेंगे जिनमें केवल क्लिंटन है और लेविंस्की नहीं।

यूआरएल सर्च (URL)

यूआरएल या वेब एड्रेस में अगर आपको किसी शब्द की सर्च करनी है तो आप inurl की मदद ले सकते हैं। जैसे अगर आपको वे वेब एड्रेस चाहिए जिनमेंtime शब्द आता हो आप सर्च इंजन में inurl:time लिखकर एंटर करें। सभी रिजल्ट वे ही मिलेंगे जिनके वेब एड्रेस में कहीं न कहीं time शब्द आता है।

परिभाषा जानें (Know the defination)

अगर आपको किसी शब्द का अर्थ जानना है तो वेब डिक्शनरी पर जाने की जरूरत नहीं है। अगर आप define:time सर्च इंजन में डालेंगे तो आपको timeशब्द की परिभाषा मिल जाएगी। इसी तरह आप दूसरे शब्दों की परिभाषा और अर्थ जान सकते हैं।

आई एम फीलिंग लकी का मतलब

गूगल सर्च इंजन वक्त बचाने के लिए यह फेसिलिटी देता है जिसमें सर्च करते वक्त वही पेज खुलता है जो सबसे रेलेवेंट होता है। इसके लिए सर्च बॉक्स में की-वर्ड लिखकर सर्च की बजाय आई एम फीलिंग लकी बटन को प्रेस कीजिए। सबसे रेलेवेंट साइट के ही खुलने से वक्त की बचत होती है।

HAPPY SEARCHING !

---

(इस अतिथि-आलेख (गेस्ट-पोस्ट) को विशेष रूप से शामिख फराज ने लिखा है)

शामिख फ़राज़

प्रवक्ता
कंप्यूटर साइंस विभाग
शफी डिग्री कॉलेज
बीसलपुर (पीलीभीत)

 

विषय:

एक टिप्पणी भेजें

sir g web site to bohat achi lgi..
par maine jab maine google.com or yahoo.com chuna to is mai sirf yahoo.com ka result hi dikh raha tha ..
www.kuchkhaskhabar.blogspot.com

हाँ, मुझे भी अभी याहू का ही परिणाम दिख रहा है. शायद गूगल ने इस सुविधा को ब्लॉक कर दिया हो...

गूगल तो नहीं, परंतु बिंग और याहू जैसे दोनों आ रहे हैं.

रोचक, खोज जारी आहे..

हम तो अब भी बहुत बार aol पर ही निर्भर रहते हैं :) पहले altvista का उपयोग करते थे मगर याहू ने उसे खरीद कर निपटा दिया पिछले साल :(

Ye Nayi website ke bare me share karne ke liye sukhariya...

dhanyavaad aap logo ne meri post ko pasand kiya.

बेनामी

aap logo ne meri post ko pasand kiya.is ke lie aapka bht bht abhari hu.

faraaz

बेनामी

mene bhi check kiya.site pe google me kch search nhi ho rha h.may be possible k google ne ise block kr diya ho.lekin google ke sath sath aur bhi seach engine h.wha se jo chahe select kr skte hai.

गूगल सर्च इन्जन से हमारा काम बखूबी चल रहा है। कभी कभी कोई दूसरा सर्च इन्जन ब्राउजर पर कब्जा जमाने का प्रयास करता है तो उसे सयास विफल करना होता है।

sir G meri help kijiye
kripya ap yah batayenge ke aapne
apne blog ko adsense par kaise register
kiya?
jabki usme to hindi language ka option nahi aata hai

अजय जी, मेरा खाता बाबा आदम के जमाने का है, जब कोई भाषाई बंधन नहीं था, कोई भी खाता खोल सकता था!

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

[blogger][facebook]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget