संदेश

October, 2012 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं
आसपास की कहानियाँ ||  छींटें और बौछारें ||  तकनीकी ||  विविध ||  व्यंग्य ||  हिन्दी || 2000+ तकनीकी और हास्य-व्यंग्य रचनाएँ -

अपने पायरेटेड विंडोज़ इंस्टालेशन को सिर्फ 699 रु. में बनाएं जेनुइन

चित्र
लगता है कि माइक्रोसॉफ़्ट अपने नए ताजातरीन विंडोज 8 ऑपरेटिंग सिस्टम को हर किसी के गले में एक तरह से मुफ़्त में ठूंसना चाहता है ताकि चहुँ ओर विंडोज का ही साम्राज्य बना रहे. और इसीलिए विंडोज 8 के संस्करण बेहद सस्ते में बेचे जा रहे हैं.यदि आपके कंप्यूटर विक्रेता ने आपके कंप्यूटर में पायरेटेड विंडोज एक्सपी, विंडोज 7 या ऐसा ही कोई अन्य संस्करण डाला हुआ है और आपको गाहे बगाहे इसके जेनुइन नहीं होने की चेतावनी मिलती रहती है और इसके अपग्रेड इत्यादि की सुविधा नहीं मिलती है तो आप सिर्फ 699 रुपए (14.99 डॉलर)  खर्च कर अपने विंडोज को जेनुइन बनाने की सुविधा पा सकते हैं. खासतौर पर भारतीय उपमहाद्वीप के उपयोगकर्ताओं के लिए तो यह सुविधा अभी भी उपलब्ध है.दरअसल (जिसे डेलिबरेट लूप-होल - यानी जान बूझ कर छोड़ी गई कमी बताया जा रहा है) आपके वर्तमान विंडोज एक्सपी या विंडोज 7  इंस्टालेशन को सिर्फ 699 रुपए में विंडोज 8 से अपग्रेड करने के लिए एक विकल्प माइक्रोसॉफ़्ट ने दिया है , यदि आपने अपना कंप्यूटर 2 जून 2012 से 31 जनवरी 2013 के बीच खरीदा है. और इसकी पुष्टि के लिए आपसे ऑनलाइन सिर्फ कुछ मूलभूत जानकारियाँ और एक डिक…

चोरों के लिए, क्या राम और क्या रावण!

चित्र
मेरे लिए तो राम भी तू और रावण भी तू!(समाचार कतरन - साभार : पत्रिका)

मरने के लिए देश में सबसे शानदार जगह कौन सी है?

चित्र
कल अखबार था रवि,आज हो गया है रद्दी।सर्टिफ़िकेट जारी हो गया है कि पैदा होने के लिए अपना एमपी पूरे देश में सबसे खराब, सबसे रद्दी जगह है. अब एमपी में पैदा तो हो लिए, जिस पर अपना कोई दखल नहीं था. सोचते हैं कि मामले को कम्पनसेट करने के लिहाज से अब कम से कम मरने के लिए तो सबसे शानदार जगह का जुगाड़ पहले से क्यों न कर लें!जैसे 'नेता' शब्द एक गाली के रूप में प्रचलित हो गया है, उसी तरह से एमपी वाला के भी बदलने के खतरे हैं. किसी को बताओ कि भोपाल, एमपी से हूँ, तो वो दन्न से पूछेगा - क्या पैदा भी वहीं हुए थे? या नहीं भी पूछेगा तो मन में कहेगा ही - साला यहीं, इस सबसे खराब जगह में पैदा भी हुआ होगा!इस खतरे से बचने के लिए संभावित माता-पिताओं को डिलीवरी के समय एमपी से अन्यत्र कहीं ले जाना चाहिए. भले ही एमपी का बार्डर शामगढ़ क्यों न हो. रद्दी जगह में पैदा होने के ताउम्र मलाल या लांछन से तो बच सकेंगे. माता पिताओं को यह संतुष्टि रहेगी कि उन्होंने अपने बच्चे के लिए इतना कुछ किया और बच्चे भी अपने माता-पिता का अहसान मानेंगे कि उन्होंने रद्दी जगह पैदा होने से बचाया.पर, जो आलरेडी रद्दी एमपी में पैदा हो…

थैंक गॉड! मैं कलेक्टर हुआ न नेता!!

चित्र
क्या कभी आपके मन में ये अफसोस हुआ है कि आप या आपके पति/पत्नी कलेक्टर क्यों न हुए?क्या आप या आपके बच्चे कलेक्टर बनने का सपना पाले हुए हैं?यदि हाँ, तो अफसोस भूल जाएं, और उस तुच्छ सपने को त्याग दें - अभी, तुरंत.आधुनिक भारत के दो प्रमुख, टॉप प्रोफ़ेशनों - कलेक्टरी और नेतागिरी के बीच अंतरंग संबंध की है ये बानगी !पेश है (आमतौर पर होने वाले?) बेहद मनोरंजक वार्तालाप के मुख्य अंश जो दैनिक भास्कर में 9 अक्तूबर 2012 को छपे:"गुड्डू और भूरिया बोले- हमें समझा रहे हो कलेक्टर
रतलाम जिला सतर्कता समिति की बैठक में कलेक्टर के देरी से पहुंचने पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कांतिलाल भूरिया व सांसद प्रेमचंद गुड्डू नाराज हुए। उनके बीच कुछ इस तरह से वार्तालाप हुआ- अंदर आते ही सांसद कांतिलाल भूरिया- कहां है कलेक्टर। गुड्डू- ये कोई तरीका है। कलेक्टर अभी तक नहीं पहुंचे। मजाक बना रखा है। (इसी बीच कलेक्टर अंदर पहुंचते हैं।) गुड्डू- तुम हो कलेक्टर, तमीज है तेरे को? कलेक्टर- बैठिए, बैठिए। गुड्डू- क्या बैठिए, बैठिए भूरिया- आप अफसर हैं और समिति के सेक्रेटरी हैं। अध्यक्ष आ गया है सांसद आ गए। आपके पते नहीं हैं। ऐसे प्र…

टायलेट मंदिर दोऊ सामने जाऊं काके बताय, बलिहारी प्रेशर आपनो जल्दी टायलेट जाय

चित्र
टायलेट मंदिर दोऊ सामने जाऊं काके बताय बलिहारी प्रेशर आपनो जल्दी टायलेट जायवैसे, समस्त ब्रह्मांड में किसी मंत्री का सर्वकालिक सत्यवचन इसे माना जाना चाहिए. या ये भी कहा जा सकता है कि भारत के किसी मंत्री ने पहली बार सत्यवचन कहे हैं. सवाल ये है कि टायलेट (शौचालय से गरीबी की बू आती है, जबकि टायलेट से अमीरी की खुशबू, इसीलिए हम इसी शब्द का प्रयोग करेंगे) मंदिर से ज्यादा पवित्र क्यों है. आइए, जरा पड़ताल करें. तो पहले ये देखें कि आप मंदिर क्यों जाते हैं? (मंदिर की जगह आप गिरिजाघर, मस्जिद, गुरुद्वारा कुछ भी प्रतिस्थापित करने को स्वतंत्र हैं) · मंदिर में आप अपने पिछले कर्मों के पाप धोने जाते हैं. · मंदिर आप शांति की तलाश में जाते हैं · मंदिर आप सर्वशक्तिमान परमेश्वर की पूजा प्रार्थना करने जाते हैं · मंदिर आप मृत्युपरांत स्वर्ग प्राप्ति के लिए जाते हैं · मंदिर आप अपने अगले जन्म में शानदार जीवन प्राप्ति के लिए जाते हैंअब जरा देखें कि आप टायलेट क्यों जाते हैं. · टायलेट में आप पिछले दिन का पाप धोने जाते हैं. चाहे वो मूली के पराँठे हों या केएफसी का बर्गर सब कुछ धुलता है, और आपके किए गए पाप (ख…

अपने सामान्य टीवी को बेहद सस्ते में बनाएं कंप्यूटर

चित्र
टेक्नोलॉज़ी दिनोंदिन कितना छलांग मार रही है यह इसका अप्रतिम उदाहरण है. क्रेडिट कार्ड साइज के एक संपूर्ण एचडी सक्षम कंप्यूटर – रास्पबेरी पाई की कीमत महज ढाई हजार रुपए है, और इसकी मांग इतनी अधिक है कि पिछले छः महीने से लगातार यह मांग पर उपलब्ध ही नहीं है (आरएस कंपोनेंट पर आज की स्थिति में, ऑर्डर करने के बाद दो महीने का इंतजार करना होगा). यानी इसे खरीदने के लिए आपको प्रीऑर्डर कर बुक करना होता है. आप पूछेंगे कि इसके पीछे कारण क्या है, तो उत्तर है – क्रेडिट कार्ड के आकार के, इस डर्ट-चीप – बेहद सस्ते संपूर्ण कंप्यूटर सिस्टम जिसमें आप एसडी कार्ड या यूएसबी ड्राइव से लिनक्स का विशिष्ट संस्करण चला सकते हैं, जिसके उपयोग की अनंत संभावनाएं हैं! और यही इसके अत्यधिक मांग की वजह है. महज ढाई हजार रुपए के रास्पबेरी पाई को अपने एचडी टीवी से जोड़ कर उसे न सिर्फ स्मार्ट टीवी बना सकते हैं बल्कि उसे पूरे कंप्यूटर में बदल सकते हैं. परंतु इसके लिए आपको थोड़ा सा टैकी होना पड़ेगा. और अब इसी लाइन पर चलते हुए आम जनता के उपयोग के लिेए टीवी और कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक कंपनी अकाई ने ६,९९० रुपये की कीमत का एक स्मार्ट बॉ…

www.polycola.com एक अनोखा सर्च इंजन

चित्र
(शामिख फराज) पॉलीकोला एक नये तरीके का सर्च इंजन है. इसको अनोखा कहने के पीछे भी एक कारण है. इसकी विशेषता यह है कि इसमें जो भी जानकारी आप चाहते है, वो दो सर्च इंजन में एक साथ देखी जा सकती है. इसका इतिहास भी थोड़ा अजीब है. इसकी शुरूआत 2005 में हुई. शुरू में इसका नाम "गाहूयूगल.कॉम" रखा गया लेकिन कुछ विवादों के कारण इसका नाम बदलना पड़ा फिर "पॉलीकोला" रखा गया. यह दूसरे सर्च इंजन के मुकाबले तीव्र है और कोई भी जानकारी खोजते समय 70% तक समय की बचत करता है. यह अमेरिकी और यूरोपी देशों में प्रसिद्ध है और बहुत प्रयोग किया जाता है. इसमें कोई भी खोज एक साथ दो सर्च इंजन में तो देखी ही जा सकती है, इसके साथ ही इसमें सर्च इंजन चुनने की भी आज़ादी है. दरअसल यह पांच सर्च इंजन को सपोर्ट करता है. GOOGLE.com, YAHOO.com, AOL.com, ASK.com & BING.com. इन पांच सर्च इंजन में से आप जो भी चाहे दो सर्च इंजन चुन सकते है और इन दोनों सर्च इंजन में आपको वो लिंक दिखाई देंगे जो आप खोजना चाहते थे. इसमें सर्च बार के नीचे पांच सर्च इंजन की लिस्ट दिखाई देती है और इसी के बराबर दूसरी ओर भी पांच सर्च इंजन क…

क्या आप भी डिजिटल हो रहे हैं?

चित्र
पेश है डिजिटल सर्वाइवल गाइड. 31 अक्तूबर से पहले महानगरों को डिजिटल होना है, और अप्रैल आते आते भोपाल इंदौर सरीखे बड़े नगरों को भी. यानी यदि आप केबल से टीवी देखते हैं तो आपको सेटटॉप बॉक्स लगाना अनिवार्य होगा. ठीक है, आपने सेटटॉप बॉक्स लगवाने का निर्णय ले लिया है. परंतु सवाल है कि कौन सा लगवाएं? क्या वो सड़ा वाला लगवा लें जो आपका केबल ऑपरेटर आपके माथे पर थोप कर चला जाएगा? भगवान के लिए, नहीं! ये हैं कुछ चेक लिस्ट जिनके जरिए आप अपने मुताबिक सेटटॉप बॉक्स चुन सकते हैं या अपने केबल ऑपरेटर को बाध्य कर सकते हैं कि वो ऐसी सुविधाओं वाला सेटटॉप बॉक्स उपलब्ध करवाए. सीआरटी टीवी के लिएसीआरटी – यानी कैथोड रे ट्यूब वाले पुराने जमाने के भारी भरकम टीवी के लिए आप कोई सा भी सेट टॉप बॉक्स लगवा सकते हैं, क्योंकि इन पुराने जमाने के टीवी में आधुनिक टेक्नोलॉजी की टीवी – एचडी टीवी को दिखाने की सुविधा नहीं होती. यदि आपको आधुनिक टेक्नोलॉजी की एचडी टीवी और साथ ही 5.1 सराउंड सिस्टम युक्त होम थिएटर जैसा आनंद अपने टीवी से चाहिए तो जल्द ही ऐसे टीवी सेटों से छुटकारा पाएं और फ्लेट स्क्रीन, पतले एलसीडी, एलईडी या प्लाज…

लीजिए पेश है हिंदी स्पेल चेक सहित एक शानदार, संपूर्ण हिंदी ऑफिस सूट - बिलकुल मुफ़्त!

चित्र
यूँ तो ओपनऑफ़िस के नवीनतम संस्करण इंस्टाल कर आप सेटिंग में जाकर हिंदी स्पेल चेक एक्सटेंशन जोड़कर उसमें भी हिंदी वर्तनी जांच की सुविधा जोड़ सकते हैं, मगर उसका वर्तनी जांच का शब्द संग्रह 85 हजार शब्दों का ही है और बहुत सारा उसमें गलत शब्द भी संग्रहित है. ऊपर से शब्दों का सुझाव देते समय उसमें डब्बे नजर आते हैं और समस्या बनी रहती है.इस समस्या का समाधान उपलब्ध है. आपको  लिब्रे ऑफ़िस पोर्टेबल एडीशन का नवीनतम संस्करण डाउनलोड कर इंस्टाल करना होगा. परंतु इसमें भी हिंदी वर्तनी हेतु महज 15 हजार शब्द ही हैं. तो इसे हम वृहद, पौने दो लाख शब्दों के शब्द संग्रह से बदल कर बढ़िया हिंदी वर्तनी जांच युक्त ऑफ़िस सूट में बदल लेंगे. यह महज 2 आसान चरणों में संभव है.1लिब्रे ऑफिस पोर्टेबल एडीशन डाउनलोड कर किसी फ़ोल्डर में इंस्टाल करें. पोर्टेबल एडीशन की खासियत यह है कि आप इसे पेन ड्राइव में कॉपी कर या किसी भी अन्य डिरेक्ट्री या फ़ोल्डर में कॉपी कर कहीं पर भी चला सकते हैं. बार बार इंस्टाल करने की जरूरत नहीं.पोर्टेबल एडीशन यहाँ से डाउनलोड करें. लिब्रे ऑफ़िस आप विंडोज, मैक या लिनक्स किसी के लिए भी डाउनलोड कर सकते…

विशाल लाइब्रेरी में से पढ़ें >

अधिक दिखाएं

---------------

छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें.

इंटरनेट पर हिंदी साहित्य का खजाना:

इंटरनेट की पहली यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित व लोकप्रिय ईपत्रिका में पढ़ें 10,000 से भी अधिक साहित्यिक रचनाएँ

हिन्दी कम्प्यूटिंग के लिए काम की ढेरों कड़ियाँ - यहाँ क्लिक करें!

.  Subscribe in a reader

इस ब्लॉग की नई पोस्टें अपने ईमेल में प्राप्त करने हेतु अपना ईमेल पता नीचे भरें:

FeedBurner द्वारा प्रेषित

ऑनलाइन हिन्दी वर्ग पहेली खेलें

***

Google+ Followers

फ़ेसबुक में पसंद करें