124 आसपास बिखरी हुई शानदार कहानियाँ - Stories from here and there

sunil handa story book stories from here and there in Hindi

आसपास की बिखरी हुई शानदार कहानियाँ

संकलन – सुनील हांडा

अनुवाद – परितोष मालवीयरवि-रतलामी

479

साबुन के डिब्बे

एक महिला ने एक दुकान से नहाने के साबुन खरीदे। जब उसने उनमें से एक साबुन के डिब्बे को खोला तो पाया कि उसके अंदर साबुन है ही नहीं। वह खाली डिब्बा था। उस महिला ने उत्पादक कंपनी के खिलाफ शिकायत दर्ज़ करायी और मुआवजा हासिल किया। इस प्रकरण के बाद कंपनी के समक्ष यह पता लगाने की चुनौती थी कि आखिर ऐसा कैसे हुआ? वे यह कैसे सुनिश्चित करेंगे कि ऐसी घटना दोबारा न हो? उस महिला को मुआवज़ा देने के अलावा उनकी काफी बदनामी भी हुयी थी।

विस्तृत जांच-पड़ताल के बाद यह पता चला कि साबुन की पैकिंग के दौरान एक या दो डिब्बे साबुन पैक हुए बिना खाली छूट जाते थे। पैक होने के बाद भरे डिब्बे और खाली डिब्बे में पता लगाना बहुत कठिन काम था। एक-एक डिब्बे की जांच करना बहुत दुष्कर कार्य था। अतः तकनीकी विभाग के प्रमुख को इस समस्या का हल ढ़ूढ़ने के लिए कहा गया। उन्होंने एक विस्तृत रिपोर्ट बनायी और एक कंप्यूटर आधारित प्रणाली स्थापित करने का सुझाव दिया जिसमें एक-एक साबुन का वज़न और स्कैन होने की व्यवस्था थी। इस प्रणाली की स्थापना में भारी खर्च प्रस्तवित किया गया।

कंपनी प्रबंधन ने उनके प्रस्ताव को ध्यानपूर्वक सुना और मशीनरी खरीदने का निर्णय लिया। तभी वहां मौजूद एक अशिक्षित कर्मचारी बोला - "बीच में बोलने के लिए मुझे माफ करें श्रीमान, परंतु मैं ऐसा तरीकाबता सकता हूं जिससे यह काम बहुत कम खर्च में हो सकता है।"

शुरूआत में कंपनी प्रबंधन को कुछ झिझक हुयी। लेकिन उन्होंने उस कर्मचारी की बात को सुना और उसके प्रस्ताव का प्रत्यक्ष रूप से प्रदर्शन देखने का निर्णय लिया। अगले दिन वह कर्मचारी एक शक्तिशाली औद्योगिक पंखा लेकर आया जिसे उसने कन्वेयर बैल्ट, जिस पर से पैक किए हुए साबुन गुजरते थे, के पास एक सही दिशा पर लगा दिया। जैसे ही खाली डिब्बे उस बैल्ट पर से गुजरे, हल्के होने के कारण उड़कर दूर जा गिरे जबकि भरे हुए डिब्बे आसानी से गुजर गए।

एक जटिल समस्या का इससे आसान समाधान और क्या हो सकता है। व्यावहारिक ज्ञान (कॉमन सेंस) कभी-कभी ही सामान्य होता है।

--

480

धरती के प्रति प्रेम

"हमारी धरती हमारे धन से अधिक महत्त्वपूर्ण है। यह हमेशा बनी रहेगी। इसे अग्नि की ज्वाला द्वारा भी नष्ट नहीं किया जा सकता।"

जब तक यह सूर्य चमकता रहेगा और नदियों में पानी बहता रहेगा, तब तक यह धरती मनुष्यों और जीव-जंतुओ को जीवन प्रदान करती रहेगी। हम मनुष्यों और जीव-जंतुओं के जीवन का सौदा नहीं कर सकते। इसलिए हम इस भूमि को नहीं बेच सकते। इसे हमारे लिए एक महान भावना के तहत अवतरित किया गया है अतः हम इसे नहीं बेच सकते क्योंकि हमारा इस पर कोई अधिकार नहीं है।

"तुम अपने धन की गणना कर सकते हो और पलक झपकते ही इसे नष्ट कर सकते हो किंतु केवल एक महान भावना ही इस धरती के अनाज और मैदानों की लहलहाती घास की गणना कर सकती है। एक उपहार के रूप में हम तुम्हें वह सब कुछ देंगे जो हमारे पास है और जिसे तुम ले जा सकते हो; लेकिन यह धरती कभी नहीं।"

--

(सुनील हांडा की किताब स्टोरीज़ फ्रॉम हियर एंड देयर से साभार अनुवादित. कहानियाँ किसे पसंद नहीं हैं? कहानियाँ आपके जीवन में सकारात्मक परिवर्तन ला सकती हैं. नित्य प्रकाशित इन कहानियों को लिंक व क्रेडिट समेत आप ई-मेल से भेज सकते हैं, समूहों, मित्रों, फ़ेसबुक इत्यादि पर पोस्ट-रीपोस्ट कर सकते हैं, या अन्यत्र कहीं भी प्रकाशित कर सकते हैं.अगले अंकों में क्रमशः जारी...)

एक टिप्पणी भेजें

आज एक मानसिक पंखा ऑन करना है!

सामान्य ज्ञान बड़ा असामान्य होता है।

अच्छी कहानियां सुन्दर अनुवाद!

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

[blogger][facebook]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget