आसपास की कहानियाँ ||  छींटें और बौछारें ||  तकनीकी ||  विविध ||  व्यंग्य ||  हिन्दी || 2000+ तकनीकी और हास्य-व्यंग्य रचनाएँ -

आसपास बिखरी हुई शानदार कहानियाँ - Stories from here and there - 32

 

आसपास की बिखरी हुई शानदार कहानियाँ

संकलन – सुनील हांडा

अनुवाद – परितोष मालवीयरवि-रतलामी

297

अंडे

मुल्ला नसरुद्दीन अंडे बेचकर गुजारा करते थे। एक दिन एक व्यक्ति उनकी दुकान पर आया और बोला - "बताओ मेरे हाथ में क्या है ?'

नसरुद्दीन बोला - "मुझे कोई सुराग दो।'

वह व्यक्ति बोला - "एक क्या, मैं तुम्हें कई सुराग दूँगा। यह अंडे के आकार का है। यह अंडे की तरह लगता है। इसका स्वाद और गंध भी अंडे की तरह है। अंदर से यह सफेद और पीला है। वैसे तो यह तरल रूप में होता है पर पकाने या गर्म करने पर ठोस जाता है। इसके अलावा, यह मुर्गी से प्राप्त होता है...........'

"हाँ में समझ गया। तुम शायद केक की बात कर रहे हो।' - मुल्ला नसरूद्दीन तपाक से बोला।

"कभी कभी ज्ञानी व्यक्ति को भी प्रत्यक्ष दिखने वाली वस्तु दिखायी नहीं पड़ती और पादरी को मसीहा दिखायी नहीं देते।'

298

क्या कुत्ता जानता है ?

मुल्ला नसरुद्दीन एक गुर्राते हुये भयंकर दिखने वाले कुत्ते से भयभीत हो रहे थे। उस कुत्ते के मालिक ने कहा - "डरो मत। क्या तुमने यह कहावत नहीं सुनी कि जो भौंकते हैं, वे काटते नहीं।'

नसरुद्दीन ने उत्तर दिया - "तुम यह कहावत जानते हो। मैं भी यह कहावत जानता हूँ। पर क्या यह कुत्ता जानता है?'

---.

50

क्या आपका जीवन इतना कीमती है कि इसे बचाया जाए?

एक बच्चा नदी में नहा रहा था. अचानक वह लहरों में फंस कर डूबने लगा. संयोग से पास से गुजर रहे मुल्ला ने उसे डूबते देखा तो तुरंत नदी में छलांग लगा कर उस डूबते बच्चे को नदी से बाहर निकाला.

जब मुल्ला जाने लगा तो बच्चे ने धन्यवाद दिया.

मुल्ला ने कहा – धन्यवाद किसलिए?

बच्चे ने कहा – आपने मेरी जान बचाई इसलिए.

मुल्ला ने जवाब दिया – बच्चे, ठीक है, जब तुम बड़े हो जाओगे तो यह सुनिश्चित जरूर करना कि तुम्हारी जिंदगी सचमुच बचाने लायक थी!

--

51

वर्तमान का सदुपयोग

एक ऋषि की मृत्यु के उपरांत उनके शिष्य गमगीन बैठे थे. उनमें से किसी का भी ज्ञान अर्जन अथवा दैनंदिनी कार्यों में मन नहीं लग रहा था.

ऋषि की मृत्यु की खबर पाकर उनके एक ऋषि मित्र आश्रम पहुँचे. उन्होंने स्वर्गीय ऋषि के शिष्यों की हालत देखी तो उनसे पूछा – तुम्हारे गुरु ने तुम्हें सर्वाधिक महत्वपूर्ण कौन सी बात सिखाई है?

सभी ने एक स्वर में कहा - वर्तमान का भरपूर सदुपयोग करो.

--

(सुनील हांडा की किताब स्टोरीज़ फ्रॉम हियर एंड देयर से साभार अनुवादित. कहानियाँ किसे पसंद नहीं हैं? कहानियाँ आपके जीवन में सकारात्मक परिवर्तन ला सकती हैं. नित्य प्रकाशित इन कहानियों को लिंक व क्रेडिट समेत आप ई-मेल से भेज सकते हैं, समूहों, मित्रों, फ़ेसबुक इत्यादि पर पोस्ट-रीपोस्ट कर सकते हैं, या अन्यत्र कहीं भी प्रकाशित कर सकते हैं.अगले अंकों में क्रमशः जारी...)

टिप्पणियाँ

  1. 50वीं तो बहुत प्रेरक है। 49वीं मजेदार है।

    उत्तर देंहटाएं
  2. हर मोड़ पर जीवन का मोल सिद्ध करना हो हमें।

    उत्तर देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

विशाल लाइब्रेरी में से पढ़ें >

अधिक दिखाएं

---------------

छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें.

इंटरनेट पर हिंदी साहित्य का खजाना:

इंटरनेट की पहली यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित व लोकप्रिय ईपत्रिका में पढ़ें 10,000 से भी अधिक साहित्यिक रचनाएँ

हिन्दी कम्प्यूटिंग के लिए काम की ढेरों कड़ियाँ - यहाँ क्लिक करें!

.  Subscribe in a reader

इस ब्लॉग की नई पोस्टें अपने ईमेल में प्राप्त करने हेतु अपना ईमेल पता नीचे भरें:

FeedBurner द्वारा प्रेषित

ऑनलाइन हिन्दी वर्ग पहेली खेलें

***

Google+ Followers

फ़ेसबुक में पसंद करें