सावधान! कहीं आपकी सरकार ने आपके कंप्यूटर को 'आधिकारिक तौर पर' वायरस से संक्रमित तो नहीं कर दिया है?

image

इट्ज़ ऑफ़ीशियल नाऊ! जर्मनी की सरकारी एजेंसियों ने आधिकारिक तौर पर पुष्टि की है कि उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक सर्विलेंस के नाम पर व्यावसायिक रूप से बिक्रय के लिए उपलब्ध ट्रोजन (कीलॉगर) वायरस को खरीदा और उसे अपने तथाकथित सरकारी काम-काज के लिए अपनाया! मजेदार बात ये है कि यह जर्मनी के कानून के खिलाफ है!

भारत में क्या स्थिति है? यह तो सिर्फ समय का सवाल है. इट इज जस्ट ए मैटर ऑफ टाइम. (और अगर आपको यहाँ मेरी लेखनी में अंग्रेज़ी ज्यादा पढ़ने को मिले तो मुझे दोष न दें, बल्कि हिंदी लिखने की नई सरकारी नियमावली सॉरी.. रूल्ज़-एंड-रेगुलेशन एंड गाइडलाइन को देखें.) किसी दिन सुबह सुबह हमें भी यह पता चलेगा कि हमारी कुछ सरकारी एजेंसियों ने भी ऐसी ही करामातें दिखा दी हैं!

और, रहा सवाल एंटीवायरसों का, तो अब जब आपकी सरकार ही आपको वायरस परोस रही है तो कैसा भी एंटीवायरस हो वह भी क्या खाक कर लेगा!

इसलिए, अपनी दाँतों में उंगली दबाए रखिए!

टिप्पणियाँ

  1. जब भी हो आप ही खुलासा करियेगा।

    उत्तर देंहटाएं
  2. अभी तो चिंता की कोई बात नहीं है। हमारी सरकारे चुनावी माहौल में ऐसे कदम नहीं उठायेगी। हां..खबर तो खतरनाक है।

    उत्तर देंहटाएं
  3. भारत की सरकार के बारे में क्या सूचना है?

    उत्तर देंहटाएं
  4. बढ़िया है। हिन्दी के ऊपर यह सब बाकी था, कम से कम सरकारी आदेशों में…

    उत्तर देंहटाएं
  5. http://rajbhasha.nic.in/IIContent.aspx?t=enpolicyorders इस लिंक पर वह हिन्दी वाला आदेश मिल जाएगा।

    पीडीएफ़ कड़ी- http://rajbhasha.nic.in/policy26sep11.pdf

    उत्तर देंहटाएं
  6. हैक कर नजर रखने का सबसे आसान तरीका ।

    उत्तर देंहटाएं
  7. कुछ भी हो सकता है... लूटतंत्र में सरकार कोई भी हथकंडा अपना सकती है

    हिन्‍दी गालियों की परिभाषा

    उत्तर देंहटाएं
  8. अपनी सरकार के कामकाज के तरीकों की मुझे पूरी जानकारी है। जब भी यह गोपनीय हरकत करेगी, उसकी सूचना सबको मिल जाएगी। आपको तो सबसे पहले मिलेगी ही।

    उत्तर देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

विशाल लाइब्रेरी में से पढ़ें >

अधिक दिखाएं

---------------

छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें.

इंटरनेट पर हिंदी साहित्य का खजाना:

इंटरनेट की पहली यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित व लोकप्रिय ईपत्रिका में पढ़ें 10,000 से भी अधिक साहित्यिक रचनाएँ

हिन्दी कम्प्यूटिंग के लिए काम की ढेरों कड़ियाँ - यहाँ क्लिक करें!

.  Subscribe in a reader

इस ब्लॉग की नई पोस्टें अपने ईमेल में प्राप्त करने हेतु अपना ईमेल पता नीचे भरें:

FeedBurner द्वारा प्रेषित

ऑनलाइन हिन्दी वर्ग पहेली खेलें

***

Google+ Followers

फ़ेसबुक में पसंद करें