सोमवार, 26 सितंबर 2011

भारतीय ब्लॉग जगत की 2011 की स्थिति - क्या ब्लॉग मर रहे हैं?


क्या ब्लॉग  मृत्यु शैय्या पर पहुँच चुके हैं?
क्या फ़ेसबुक और ट्विटर ब्लॉगों को मात दे रहे हैं?
भारतीय ब्लॉग जगत की स्थिति अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कैसी है? किस स्थान पर खड़े हैं हम?

इन सब और अन्य ढेर सारे सवालों के जवाब जानने के लिए तत्काल ही यहाँ चटका लगाएँ-
http://www.slideshare.net/Drizzlin/state-of-the-indian-blogosphere-2011

11 टिप्पणियाँ./ अपनी प्रतिक्रिया लिखें:

  1. मन झन्ना गया पढ़कर, पर सत्य तो यही है।

    उत्तर देंहटाएं
  2. कोई चिंता नहीं। ब्लाग और ब्लागर जीवित रहेंगे :)

    उत्तर देंहटाएं
  3. अच्छा देखते हैं फिर…आप यहीं देते तो अच्छा होता…

    उत्तर देंहटाएं
  4. गंभीर लेखक ब्लाग पर बने रहेंगे! लेकिन तुरंत टिप्पणी और उत्तर वाले जरूर फ़ेसबुक जैसी साईट पर चले जायेंगे। टी २० और टेस्ट क्रिकेट जैसी तुलना है यह!

    उत्तर देंहटाएं
  5. देखते हैं क्या होता है आगे ..फिलहाल मन विचलित है .....!

    उत्तर देंहटाएं
  6. आप कुछ अपनी टिप्‍पणी सहित लगा दें, तो बेहतर हो.

    उत्तर देंहटाएं
  7. Glad to know that we are in 'process of evolution' !

    उत्तर देंहटाएं
  8. सारे के सारे 54 पन्‍ने पलटे किन्‍तु अंग्रेजी का अज्ञान हावी रहा। मुझे कुछ भी समझ नहीं आया। टिप्‍पणियों से लगा कि चिन्‍ता जैसी कुछ बात तो है। किन्‍तु वह बात क्‍या है - यह पल्‍ले नहीं पडा। सबकी आवाज में अपनी आवाज मिला रहा हूँ - आप ही कुछ विस्‍तृत बता दें तो कृपा होगी।

    उत्तर देंहटाएं
  9. यह पोस्ट यहाँ अनावश्यक रूप से लोगों को भरमाने के लिए दी गयी है -हिन्दी ब्लागिंग से इसका कुछ लेना देना नहीं लगता ..सैम्पल सायिज बहुत छोटा है ...

    उत्तर देंहटाएं
  10. @ अरविंद मिश्र - अनावश्यक रूप से भरमाने के लिए?

    और मैंने यहाँ कब यह कह दिया कि हिन्दी ब्लॉगरों के लिए है? आप फिर से, ध्यान पूर्वक पढ़ें. यहाँ भारतीय शब्द दिया है. भारतीय माने - अच्छे खासे अंग्रेजी, तमिल, तेलुगू, बंगाली इत्यादि ब्लॉग, हिंदी समेत!

    रहा सवाल सेंपल साइज का तो उसका क्या पैमाना हो सकता है? सर्वे से एक ट्रेंड ही निकाला गया है. कोई पक्की बात नहीं की गई है. और, आमतौर पर सभी सर्वे में यही कुछ होता है. :)

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

----

नया! छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें. ---