सोमवार, 16 मई 2011

एक शाम जबलपुर के नाम...

हिंदी ब्लॉग, ब्लॉगिंग और ब्लॉग-मित्रों की, ब्लॉग-मित्रों से बातें - गिरीश बिल्लौरे मुकुल तथा विजय तिवारी किसलय के साथ :

 

(शुरू के कुछ मिनट ऑडियो बेहद धीमा है, मगर बाद में ठीक है. आप चाहें तो शुरू के 4-5 मिनट स्किप कर सकते हैं)

इसी प्रवास के कुछ और लाइव वीडियो -

इस लाइव वीडियो को अपने सेल फ़ोन से लाइव किया विजय तिवारी किसलय ने :

.Bambuser | देवर्षि  नारद  पत्रकारिता  सम्मान  समारोह  जबलपुर  (विजय तिवारी 5)

और

ऊपर दिए लाइव वीडियो के प्रारंभिक भाग की कड़ी -

http://bambuser.com/v/1657858 

(इस वीडियो में साउंड की कुछ समस्या है, अतः अग्रिम क्षमा)

जबलपुर की शाम यादगार बनाने हेतु भाई विजय व भाई गिरीश का हार्दिक धन्यवाद.

4 टिप्पणियाँ./ अपनी प्रतिक्रिया लिखें:

  1. आभारी हूं
    डिनर ड्यू है रवि जी

    उत्तर देंहटाएं
  2. कल यह वीडियो देखा था। गिरीश बिल्लौरे बहुत मेहनत करते हैं इस काम में। उनके वीडियो एक दम गांधी जी टाइप होते हैं। जैसे गांधी जी किसी वाइसराय से बतियाते हुये अपनी बकरी को घास-फ़ूस खिलाते हुये उसको प्यार भी करते रहते थे वैसे ही गिरीश जी बातचीत करते हुये और भी तमाम काम करते रहते हैं।

    छब्बीस मिनट की बातचीत में रविरतलामी से केवल दो-चार सवाल पूछना। लगता है कुछ तैयारी-वैयारी भी करनी चाहिये इंटरव्यू लेने के पहले।

    उत्तर देंहटाएं
  3. हमने भी जबलपुर में एक शाम बिताई और आपको मंच पर नारद पत्रकारिता सम्मान समारोह का मुख्य अतिथि बने देखा . यह अच्छा लगा ।

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

----

नया! छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें. ---