संदेश

March, 2011 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

क्रिकेट स्तोत्र

चित्र
अस्य श्री क्रिकेटस्तोत्र माला मंत्रस्य श्री क्रिकेट मिथ्या प्रशंसक ऋषिः रविरतलामी छन्दः गलीक्रिकेट खिलाड़ी सर्व वर्ण शक्तयः शुश्रुषा वीजं वाकस्तम्भ कीलकम् क्रिकेटम् प्रसन्नार्थे पठे विआनेयोगः। हे क्रिकेट। हम निठल्ले तुमको प्रणाम करते हैं। तुम नानागुण विभूषित, सुंदरकांति विशिष्ट बहु संपद युक्त खेल हो अतः हे क्रिकेट ! हम निठल्ले तुमको प्रणाम करते हैं। तुम हर्ता क्रियात्मकता व रचनात्मकता के, तुम कर्त्ता आराम व छुट्टी के, तुम विधाता सटोरियों के अतएव हे क्रिकेट हम निठल्ले तुमको प्रणाम करते हैं। तुम समर में 20 ओवर धारी, विंटर में 40 ओवर धारी, बाकी समय 5 दिवस धारी मुफ़्त मनोरंजन कारी अतएव हे क्रिकेट हम निठल्ले तुमको प्रणाम करते हैं। तुम एक रूप से तमाम खेलों पर राज्य करते हो, एक रूप से किसी खेल को आगे बढ़ने नहीं देते हो और एक रूप से अनिश्चित हो, अतएव हे त्रिमूर्ते! हम निठल्ले तुमको प्रणाम करते हैं। आप के सत्वगुण आप के प्रसंशकों से प्रगट, आपके रजोगुण आपके मैचों से प्रकाशित, एवं आपके तमोगुण भवत्प्रणीत विश्व संवाद पत्रा दिकों से विकसित, अतएव हे त्रिगुणात्मक ! हम निठल्ले तुमको प्रणाम करते ह…

साउंडट्रकर : अब सुनो गीत संगीत जी भर के!

चित्र
इंटरनेट की एक सबसे बड़ी खूबी यह है कि यहाँ संगीत प्रेमियों के लिए हर किस्म का संगीत प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है. वैध-अवैध तरीके से डाउनलोड करने से लेकर ऑनलाइन रेडियो इत्यादि सबकुछ. और तो और, अपने लोकप्रिय सरकारी विविध भारती विज्ञापन प्रसारण सेवा के लिए भी कुछ लोगों ने कुछ समय से व्यक्तिगत प्रयास कर इंटरनेट पर स्ट्रीमिंग की सुविधा दे दी है जिससे पूरी दुनिया में विविध भारती का प्रसारण सुना जा सकता है. साउंडट्रकर कुछ-कुछ ऑनलाइन रेडियो जैसी एक बिलकुल नई सुविधा है. एकदम साफ-सुथरा, इस्तेमाल में बेहद आसान. साउंडट्रकर के प्रयोग के लिए न तो आपको पंजीकरण की आवश्यकता है और न ही आपको किसी तरह का कोई शुल्क देना पड़ता है. आप इसे कंप्यूटर पर तो इस्तेमाल कर ही सकते हैं, अपने आईफ़ोन, विंडोज मोबाइल फ़ोनों तथा नोकिया ओवीआई समर्थित फ़ोनों में भी साउंडट्रकर एप के जरिए सुन सकते हैं. आपको बस इसके सर्च बाक्स के जरिए अपने पसंदीदा कीवर्ड्स का एक चैनल बनाना होगा या पहले से मौजूद चैनलों में से कोई चुनना होगा. जैसे कि यदि आप लता या सुनिधि टाइप कर करते हैं तो यह आपके जियोग्राफ़िक लोकेशन के आधार पर हिंदी गानों के…

किसी मंत्री की संपत्ति को 5 साल में कितने गुना हो जाना चाहिए?

चित्र
कम से कम 5 हजार गुना तो होना ही चाहिए, अन्यथा वो मंत्री किस काम का? यदि इससे कम हुआ तो फिर तो वो एक  बेहद नाकारा, निकम्मा और डरपोक किस्म का मंत्री होगा जो ठीक से खाना/खिलाना नहीं जानता.  राजाओं और कोड़ाओं के जमाने में जहाँ मंत्रियों ने अपनी क्या कहें अपने आसपास के लोगों की संपत्तियाँ 5 साल में 5000 गुनी कर दीं हैं, ऐसे मंत्री तो सिस्टम में कलंक हैं. इन्हें मंत्री पद पर रहने का कोई अधिकार ही नहीं है. भारत की जनता ने इन्हें खाने कमाने के लिए चुना था, परंतु ये तो पूरे निकम्मे निकले. पूरे  पांच वर्षों में ये खुद अपना ही भला नहीं कर पाए तो जनता का क्या खाक करेंगे? जनता को ऐसे नाकारा, असफल मंत्रियों को अगले चुनावों में वोट न देकर हरा देना चाहिए. साथ ही जैसे कि राजनीतिक पार्टियाँ चुनावी घोषणा करती हैं, जनता को भी घोषणा करनी चाहिए कि विधायकों/सांसदों को अपने पांच साला कार्यकाल के दौरान अपनी आय में न्यूनतम 5 हजार गुना और मंत्री बने तो 10 हजार गुना इजाफा करना होगा, अन्यथा उन पर जुर्माना लगाया जाएगा. जनता को साल-दर-साल इनके प्रोग्रेस रिपोर्ट पर नजर रखनी चाहिए और जो इस न्यूनतम मापदंड पर खरे नहीं …

एबरीविएटेड लाइफ़...

चित्र
कल मैं एमजी रोड से टीटी नगर को जा रहा था तो रास्ते में एमपी नगर पड़ता है. वहाँ जीटीबी कॉम्प्लैक्स में बीएल से मुलाकात हो गई. वो भी मेरी ही बैच, जेएनयू का 86 का पासआउट था बीई आईटी. वो बताने लगा कि आरएल अभी ही एनडी के आईजी एयरपोर्ट पर उतरा है और सीधे यहाँ की फ्लाइट पकड़ रहा है. “यह तो बड़ी खुशी की बात है अब हमें एएसएपी कोई प्लान करना चाहिए” – मैंने कहा. “नहीं, उसकी कंपनी का कोई लफड़ा है – मनरेगा में घोटाले का. सिटी एसपी के दरबार में उसे हाजिरी देनी है, फिर वो जीटी रोड से तुरंत आगे सीजी के लिए आगे निकल लेगा.” - बीएल ने बताया. “ओह!, पर जीटी रोड में तो टीसीपी वालों का काम चल रहा है और रोड जगह जगह ब्लॉक है. उसे एबी रोड पकड़ना चाहिए.” – मैंने सुझाया. “देखते हैं, आने दो उसे. बता देंगे. आज तो एसएल और यूके का मैच आ रहा है एनडीटीवीटीवी पर. वीरू और एचबी पर ही दांव है इस बार. स्कोर क्या हुआ है पता है?” – बीएल ने कहा. फिर अचानक उसे कुछ याद आया और बोला – “यार तू अपने पीसी पर मेरा एक टिकट मुम्बई एलटीटी बुक कर देगा क्या? मेरे एरिये की एलटी लाइन पर एचटी लाइन स्नैप होने से मेरा एनबी खराब हो गया है और…

तू कहाँ है, किधर है, महारानी महंगाई?

चित्र
मीडिया में, संसद में, और सड़कों पर – जब चहुँओर महंगाई-महंगाई का रोना रोया जाने लगा तो मैंने सोचा कि चलो महंगाई की पड़ताल कर ही लिया जाए कि किधर है महंगाई और कितनी है महंगाई. सबसे पहले इलेक्ट्रॉनिक की दुकान पर पहुंचा. सोचा आजकल तो हर चीज हाईटेक हो गई है. महंगाई भी हाईटेक हो गयी होगी और उसका पता यहाँ आसानी से मिल जाएगा. कम्प्यूटर सेक्शन में एक बढ़िया, ब्रांड न्यू, लेटेस्ट कॉन्फ़िगरेशन वाले कंप्यूटर के प्राइस टैग पर 30 हजार रुपये को काट कर 24 हजार रुपए लिखा गया था. साथ में 3 हजार मूल्य के अन्य उपहार फ्री. इससे रद्दी किस्म का कंप्यूटर दो साल पहले मैंने तो चालीस हजार रुपए में लिया था, और उपहार की बात तो छोड़ ही दें, पायरेटेड सॉफ़्टवेयर इंस्टाल करवाने के अतिरिक्त 5 सौ रुपए अलग से झाड़ लिए गए थे. कमोबेश यही हाल कलर टेलिविजन सेटों, माइक्रोवेव ओवनों, फ्रिज, एयर-कंडीशनरों इत्यादि-इत्यादि में भी था. यहाँ तो महंगाई देवी नजर नहीं आई, और बदले में सस्ती महारानी पैर जमाए मिली. मुझे लगा कि हो न हो महंगाई डेली नीड्स और खानपान की दुकानों पर मौजूद हो सकती है. नए नए खुले पित्जा झोंपड़ी नामक दुकान पर पह…

नया ब्लॉगर ब्लॉगस्पॉट : क्या इसमें डिस्कशन स्टाइल कमेंटिंग सिस्टम है?

चित्र
नया ऑनलाइन एडीटर:नया डैशबोर्ड:यदि नहीं, तो नया इंटरफ़ेस या नया ऑनलाइन एडीटर, जैसा कि कहा जा रहा है बहुतों के किसी काम का नहीं होगा क्योंकि कई कारणों में से एक इस महत्वपूर्ण कारण से लोग ब्लॉगर छोड़कर वर्डप्रेस की ओर चले जाते हैं.

यूआरएल हंटर : ब्राउजर पता पट्टी में ही खेलिए कंप्यूटर गेम.

एचटीएमएल 5 की ताकत का अंदाजा दिखाता है यूआरएल हंटर नाम का प्रूफ ऑफ कंसेप्ट गेम. इसे आप सीधे ब्राउजर के पता पट्टी (एड्रेस बार) में ही खेल सकते हैं.
खेलने के लिए सीधे यहाँ जाएँ:
http://probablyinteractive.com/url-hunter

ध्यान रहे आपका ब्राउजर एकदम नया, एचटीएमएल5 समर्थित  होना चाहिए - जैसे कि ऑपेरा 11, क्रोम 10, फायरफाक्स 4 या इंटरनेट एक्सप्लोरर 9.
और, इसी का हिंदी संस्करण जो वाकई शानदार चलता है, खेलने के लिए नीचे दिए गए जिप फ़ाइल को अपने कंप्यूटर में डाउनलोड करें, अनजिप करें और यूआरएल हंटर.एचटीएम फ़ाइल को ब्राउजर में खोलें.
जिप फ़ाइल डाउनलोड लिंक

यदि किसी कारण से ऊपर की लिंक काम न करे तो नीचे दिया गया वेब पता कॉपी कर अपने ब्राउजर पता पट्टी में  पेस्ट कर जाएँ व डायरेक्ट डाउनलोड करें :

http://cid-60eace63e15a752a.office.live.com/self.aspx/.Public/url-hunter.zip

देखिए दुनिया के सबसे पहले कंप्यूटर वायरस पाकिस्तानी 'सीब्रेन' के लेखक द्वय का जीवंत साक्षात्कार

चित्र
दुनिया का पहला वायरस सीब्रेन कुछ समय पहले पच्चीस साल का हो गया. उसे जनवरी 1986 में जारी किया गया था. कंप्यूटर व इंटरनेट की सुरक्षा प्रदान करने वाली कंपनी एफ़-सेक्यूर के मिको हेप्पोनन ने पिछले दिनों पाकिस्तान पहुँच कर सीब्रेन वायरस तैयार करने वाले बासित फ़ारूक अल्वी तथा अमजद फ़ारूक अल्वी से मुलाकात की और उनका साक्षात्कार लिया. वे आजकल ब्रेन कम्यूनिकेशन कंपनी चलाते हैं. उनका साक्षात्कार बेहद मजेदार है.      (अमजद (बाएँ) तथा बासित (दाएँ))मिको ने बहुत से सवाल किए कि वायरस  लिखने के पीछे क्या कारण रहे थे, क्या अनुभव रहे इत्यादि.और, क्या आपको पता है कि सीब्रेन के कोड में इसके लेखकों के नाम, पते और टेलिफोन नंबर भी दर्ज थे? साक्षात्कार का वीडियो (अंग्रेज़ी में) यहाँ देखें - चित्र - मिको के पोस्ट से साभार

10 मार्च की नव दुनिया युवा - हिंदी ब्लॉगों के चोरी के कट-पेस्ट मसाले से रंगा अखबार का पूरा पन्ना!

चित्र
हिंदी ब्लॉगों की चोरी की सामग्री से अखबारों के पन्ने बनाए जाने का सिलसिला तो हिंदी ब्लॉगिंग के इतिहास से ही चालू है. बहुत पहले (29 जुलाई 2009) पीपुल्स समाचार के एक व्यंजन विशेषांक का एक पन्ना पूरा का पूरा निशा मधुलिका ब्लॉग से मय चित्रों के बनाया गया था.आज एक अखबार नव दुनिया का ब्लॉग पर केंद्रित पूरा का पूरा पन्ना हिंदी ब्लॉगों की कटपेस्ट सामग्री से तैयार किया गया है - जिसमें कॉमा, फुलस्टाप और मात्रा की गलती तक जस की तस उतारी गई है. जाहिर है ब्लॉगरों के नाम व यूआरएल नदारद हैं, और बदले में किसी और का नाम दिया गया है. ब्लॉग्स इन मीडिया की एक पोस्ट  में इस अखबार की फुल स्कैन इमेज के साथ बताया गया है कि -"10 मार्च 2011 को नव दुनिया, भोपाल के साप्ताहिक परिशिष्ट ‘युवा’ में ब्लॉग केन्द्रित एक ऐसा आलेख जिसमें लगभग सभी जानकारियाँ विभिन्न ब्लॉगों से ली गई हैं किन्तु न तो किसी ब्लॉग का नाम दिया गया है और ना ही किसी ब्लॉग लेखक का! हैरत की बात यह भी है कि कॉमा, फुलस्टॉप भी हूबहू उठा लिए गए हैं!!जिन ब्लॉगों की सामग्री हूबहू ली गई हैं उनमें रवि रतलामी (रविशंकर श्रीवास्तव) का अभिव्यक्ति में लेख,…

इस मामले में, मेरा देश तो समग्र विश्व में 50 साल आगे है!

चित्र
बात चाहे कावेरी के पानी को लेकर दो राज्यों के बीच युद्ध की हो या फिर अपने मुहल्ले में आधे-अधूरे टपकते सार्वजनिक नल पर पानी भरने को लेकर मारामारी की हो. अपने देश में तो पिछले कई वर्षों से नित्य युद्ध हो रहे हैं. भयंकर. मारकाट युक्त. है न अपना देश इस मामले में कहीं आगे. बहुत आगे.--व्यंज़ल---क्या हुआ जो नहीं मिलता नल का पानीसर्वत्र सर्वसुलभ तो है बिसलेरी का पानीटाइटन आई+ का डिजाइनर चश्मा पहन लोग पूछते हैं कहाँ गया आँख का पानीकिसलिए जाते हो यारों किसी गंगोत्री कोअब पॉलीपैक में मिलता है गंगा का पानीइन बेशर्म नदियों को बता ही दिया जाएकिसकी यमुना किसका कावेरी का पानीधोने पोंछने की बातें क्यूं करते हो यारोंयहाँ तो मयस्सर नहीं है पीने का पानीलोगों की देखा देखी अपने यार रवि ने भीचढ़ा लिया है अपने ऊपर सोने का पानी---

विशाल लाइब्रेरी में से पढ़ें >

अधिक दिखाएं

---------------

छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें.

इंटरनेट पर हिंदी साहित्य का खजाना:

इंटरनेट की पहली यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित व लोकप्रिय ईपत्रिका में पढ़ें 10,000 से भी अधिक साहित्यिक रचनाएँ

हिन्दी कम्प्यूटिंग के लिए काम की ढेरों कड़ियाँ - यहाँ क्लिक करें!

.  Subscribe in a reader

इस ब्लॉग की नई पोस्टें अपने ईमेल में प्राप्त करने हेतु अपना ईमेल पता नीचे भरें:

FeedBurner द्वारा प्रेषित

ऑनलाइन हिन्दी वर्ग पहेली खेलें

***

Google+ Followers

फ़ेसबुक में पसंद करें