टेढ़ी दुनिया पर रवि रतलामी की तिर्यक, तकनीकी रेखाएँ...

हर्ष छाया की हिंदी ब्लॉग पोस्टें चूरन के रूप में किताबी शक्ल में चाटिए…

chooran by harsh chhaya

टेलिविजन और फ़िल्म के लोकप्रिय कलाकार हर्ष छाया अपने रोजमर्रा के अनुभवों को जीन्सगुरू नामक ब्लॉग पर कमाल के ब्लॉग पोस्टों में परिवर्तित करते रहे हैं. उनकी एक पोस्ट

...96 घन्टे और 4 बातें...

को चिट्ठाचर्चा में

मामू.. आई लव्ड दिस वन रे… क्या लिखते हैं आप…! 

नाम से टीपा गया था. इस पोस्ट से अंदाजा लगाया जा सकता है कि उनकी लेखनी कितनी कमाल की है और वे कितनी भावपूर्ण, रोचक अंदाज में लिखते हैं.

हर्ष छाया ने अपनी उन्हीं पोस्टों में से चंद चुनिंदा तथा अपने अन्य और भी अनुभवों को संकलित कर एक किताब की शक्ल दी है. जिसका नाम है चूरन. चूरन प्रस्तुत करते हुए वे लिखते हैं -


जी हाँ...चूरन…. कुछ खट्टा  कुछ मीठा कुल मिलाकर चटपटा...मेरे ये संस्मरण, कहानियाँ और किस्से, अगर आपकी किसी याद, किसी किस्से को या किसी  भावना को "कोहनी" करें और कुछ देर के लिये आपको अपनी ही दुनिया  में ले जाये तो मुझे मेरा प्रयास सफल होने की बेहद खुशी होगी...

इसे आप कहीं से भी पढ़ना शुरू कर सकते हैं ।  जो अध्याय खुल जाए वहीं से यह  किताब शुरू होती है..वैसे अगर आप  चाहें तो पहले पन्ने से भी शुरूआत कर सकते हैं.

 हिंदी ब्लॉग पोस्टों को किताबी शक्ल देने के कुछ प्रयास पहले भी हुए हैं. परंतु कमर्शियल स्तर पर वृहद रूप में बाकायदा प्लानिंग कर प्रकाशित करने का यह प्रथम प्रयास माना जाना चाहिए.

हर्ष छाया के हिंदी ब्लॉग पोस्टों के संकलन की किताब चूरन की कीमत बेहद वाजिब है और मात्र 150 रुपए में इसे खरीदा जा सकता है. 200 रुपए में किताब चूरन घर बैठे मंगवाई जा सकती है (कैश ऑन डिलीवरी). अधिक विवरण के लिए यहाँ देखें - http://www.harshchhayaworld.com/html/feedbk_cntct.html

हर्ष छाया को बधाई व शुभकामनाएँ. उनके दर्जनों किस्म की चूरनें जल्द निकलें  और वे सब की सब बेस्ट सेलर हों.

विषय:

एक टिप्पणी भेजें

बहुत बधाई हो हर्ष छाया जी को।

blog to invitation based hai :(

अच्छी प्रस्तुति है
पढ़ कर अच्छा लगा
- विजय तिवारी 'किसलय '
हिंदी साहित्य संगम जबलपुर

रवी...आभार कि यह बात यहाँ लिखी, ईमान्दारी से औपराचिक रूप से नहीं...प्रवीण, संजीत, विजय... शुक्रिया...अभीषेक, किताब खरीद लें... ;-)

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

अन्य रचनाएँ

[random][simplepost]

व्यंग्य

[व्यंग्य][random][column1]

विविध

[विविध][random][column1]

हिन्दी

[हिन्दी][random][column1]
[blogger][facebook]

तकनीकी

[तकनीकी][random][column1]

आपकी रूचि की और रचनाएँ -

[random][column1]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget