किसी भी ब्लॉग के समस्त प्रविष्टियों की सम्यक सूची कैसे देखें?

बहुत से सुंदर ब्लॉगों में शानदार प्रविष्टियाँ होती हैं, परंतु उनमें नेविगेशन बहुत ही निराशाजनक होता है. आप चाहते हुए भी उनकी पिछली प्रविष्टियों के शीर्षकों पर एक सरसरी निगाह नहीं मार सकते अथवा पुरानी किसी प्रविष्टि को खोज नहीं सकते यदि कुछ कीवर्ड्स नहीं पता हैं तो. एक एक कर पुरानी प्रविष्टियों में जाना बेहद उबाऊ होता है.

ऐसे में एक युक्ति आपके काम आ सकती है. एक स्क्रिप्ट के जरिए आप किसी भी ब्लॉग की समस्त पुरानी प्रविष्टियों की सूची एक पेज पर बना सकते हैं, और उसे सहेज कर रख सकते हैं. इस तरह की सूची आपके संदर्भ इत्यादि के लिए भी बढ़िया काम आ सकता है. समग्र रचनाओं की सम्यक सूची का एक बढ़िया उदाहरण आपको रचनाकार की इस सूची में मिल सकता है.

रचनाकार ब्लॉग की सूची जनरेट करने के लिए यह कोड प्रयोग किया गया है -

रचनाकार में अब तक प्रकाशित समस्त रचनाओं की एक सम्यक, लिंकित सूची

कृपया ध्यान दें, यह सूची अच्छी खासी लंबी है, अतः इसे लोड होने में अच्छा-खासा समय लग सकता है. कृपया धैर्य बनाए रखें. तब तक आप इस विंडो को मिनिमाइज कर अपना अन्य कम्प्यूटिंग कार्य जारी रखें. एक बार यह पृष्ठ लोड हो जाए तो समस्त लिंक सहित इस एचटीएमएल पेज को फ़ाइल> सेव-एज > एचटीएमए फ़ाइल के रूप में अपने कम्प्यूटर पर सहेज कर रख लें.
समग्र सूची निम्न है - (यदि यह अभी नहीं दिख रही है तो कृपया इंतजार करें, यह लोड हो रही है)

<script src="http://www.abu-farhan.com/script/daftarisiblogger/blogtoc-min.js">
</script>
<script src="
http://www.rachanakar.blogspot.com/feeds/posts/default?max-results=9999&amp;alt=json-in-script&amp;callback=loadtoc">
</script>

अपने पसंदीदा ब्लॉग की ऐसी ही सूची बनाने के लिए आपको क्या करना है?

आपको करना यह है कि बस आप ऊपर दिए बैंगनी रंग के कोड को नोटपैड में कॉपी कर लें तथा लाल रंग में लिखे रचनाकार को हटाकर वांछित ब्लॉग का नाम डालें तथा नीचे स्क्रिप्ट में लाल रंग में लिखे rachanakar.blogspot.com की जगह वांछित ब्लॉगर ब्लॉग जिसके ब्लॉग पोस्टों की सम्यक सूची बनानी है वह पता डाल दें (जैसे कि यदि इस ब्लॉग छींटें और बौछारें की सूची बनानी हो तो raviratlami.blogspot.com ) तथा उसे सेव एज आलफ़ाइल्स के रूप में एचटीएमएल एक्सटेंशन के साथ, यूटीएफ़-8 फार्मेट में सहेज लें. इस फ़ाइल को अब किसी भी ब्राउज़र में खोलें. कुछ ही समय में आपके सामने उस ब्लॉग के पोस्टों की सम्यक सूची हाजिर होगी.

आप चाहें तो इस कोड को एक पोस्ट के रूप में अपने ब्लॉग पर भी पोस्ट कर सकते हैं और उसकी लिंक अपने ब्लॉग पर बाजूपट्टी में दे सकते हैं.

टिप्पणियाँ

  1. उपयोगी जानकारी, रवि जी आभार आपका!!

    उत्तर देंहटाएं
  2. निशांत जी,
    नहीं, यह सिर्फ ब्लॉगर के लिए है. वर्डप्रेस के लिए भी होगा कोई स्क्रिप्ट. जनता की डिमांड आने दीजिए :)

    उत्तर देंहटाएं
  3. हम इस कोड से ब्‍लॉग में एड पेज के द्वारा अतिरिक्‍त पेज लगा सकते हैं, हमने किया है।


    बहुत आवश्‍यक कोड है यह भईया, धन्‍यवाद.

    उत्तर देंहटाएं
  4. भईया एड पेज में कोड डालने के बाद प्रिव्‍यू में तो सहीं दिखा रहा है किन्‍तु पब्लिश करने के बाद पेज लिंक ओपन नहीं हो पा रहा है.

    उत्तर देंहटाएं
  5. संजीव जी,
    थोड़ा धैर्य रखें, धीरे से पेज लोड होना चाहिए.
    या फिर आप फिर से इसका कोड डालकर री पब्लिश करें. कई बार प्रीव्यू देखने के बाद ब्लॉगर अपनी मर्जी से कोड में हेर फेर (साफ सफाई) कर देता है. आप इसका एचटीएमएल कोड देखेंगे तो शायद बदली हुई चीज नजर आए.

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत उपयोगी जानकारी है। धन्यवाद।

    उत्तर देंहटाएं
  7. बहुत उपयोगी। टैग के अनुसार बाँट दिया है।

    उत्तर देंहटाएं
  8. काम की जानकारी
    धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  9. भैया हमसे क्यों नाराज हो. वर्डप्रेस के लिए भी कुछ जुगाड़ कर ही दो.

    उत्तर देंहटाएं
  10. धन्यवाद सर,
    कोशिश की है, अभी तो कामयाब नहीं हुये। लेकिन हो जायेंगे जरूर। फ़ाईल सेव करना और फ़ार्मैट तो कर लिया लेकिन html extension वाला काम कैसे होगा? हंसियेगा नहीं, technically raw हैं अपन एकदम, इसलिये पूछ लिया है।

    उत्तर देंहटाएं
  11. सुब्रमण्यम जी,
    वर्डप्रेस के लिए भी कोई न कोई जुगाड़ होना चाहिए. जल्द ही ढूंढ कर निकालते हैं.

    मो सम कौन जी,
    फ़ाइल सेव करते समय नोटपैड में फ़ाइल बाई डिफ़ाल्ट *.txt फार्मेट में सेव होती है. तो इसे आप *.htm फ़ार्मेट में सेव करें. जैसे कि आप अपनी फ़ाइल को mosumkaun के नाम से सेव करना चाहते हैं तो नोटपैड इसे mosumkaun.txt के नाम से सहेजेगा. तो इसे सहेजते समय mosumkaun.htm कर दें बस.

    उत्तर देंहटाएं
  12. सुब्रमण्यम जी,
    मैंने कुछ खोजबीन की है, और वर्डप्रेस.कॉम के लिए एक बढ़िया उपाय यहाँ पर दिया गया है -

    http://en.forums.wordpress.com/topic/how-to-create-archives-page-with-all-my-posts?replies=2#post-347477

    वैसे, वर्डप्रेस के लिए (स्वयं के डोमेन पर चल रहे)कोई न कोई प्लगइन होना चाहिए.

    उत्तर देंहटाएं
  13. अत्यन्त उपयोगी‌ प्रविष्टि । खुल रही है सूची‌ । आभार ।

    उत्तर देंहटाएं
  14. Bahut accha Blog hai...

    Good Work.

    Keep it up

    उत्तर देंहटाएं
  15. लेखन के लिये “उम्र कैदी” की ओर से शुभकामनाएँ।

    जीवन तो इंसान ही नहीं, बल्कि सभी जीव जीते हैं, लेकिन इस समाज में व्याप्त भ्रष्टाचार, मनमानी और भेदभावपूर्ण व्यवस्था के चलते कुछ लोगों के लिये मानव जीवन ही अभिशाप बन जाता है। अपना घर जेल से भी बुरी जगह बन जाता है। जिसके चलते अनेक लोग मजबूर होकर अपराधी भी बन जाते है। मैंने ऐसे लोगों को अपराधी बनते देखा है। मैंने अपराधी नहीं बनने का मार्ग चुना। मेरा निर्णय कितना सही या गलत था, ये तो पाठकों को तय करना है, लेकिन जो कुछ मैं पिछले तीन दशक से आज तक झेलता रहा हूँ, सह रहा हूँ और सहते रहने को विवश हूँ। उसके लिए कौन जिम्मेदार है? यह आप अर्थात समाज को तय करना है!

    मैं यह जरूर जनता हूँ कि जब तक मुझ जैसे परिस्थितियों में फंसे समस्याग्रस्त लोगों को समाज के लोग अपने हाल पर छोडकर आगे बढते जायेंगे, समाज के हालात लगातार बिगडते ही जायेंगे। बल्कि हालात बिगडते जाने का यह भी एक बडा कारण है।

    भगवान ना करे, लेकिन कल को आप या आपका कोई भी इस प्रकार के षडयन्त्र का कभी भी शिकार हो सकता है!

    अत: यदि आपके पास केवल कुछ मिनट का समय हो तो कृपया मुझ "उम्र-कैदी" का निम्न ब्लॉग पढने का कष्ट करें हो सकता है कि आपके अनुभवों/विचारों से मुझे कोई दिशा मिल जाये या मेरा जीवन संघर्ष आपके या अन्य किसी के काम आ जाये! लेकिन मुझे दया या रहम या दिखावटी सहानुभूति की जरूरत नहीं है।

    थोड़े से ज्ञान के आधार पर, यह ब्लॉग मैं खुद लिख रहा हूँ, इसे और अच्छा बनाने के लिए तथा अधिकतम पाठकों तक पहुँचाने के लिए तकनीकी जानकारी प्रदान करने वालों का आभारी रहूँगा।

    http://umraquaidi.blogspot.com/

    उक्त ब्लॉग पर आपकी एक सार्थक व मार्गदर्शक टिप्पणी की उम्मीद के साथ-आपका शुभचिन्तक
    “उम्र कैदी”

    उत्तर देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

विशाल लाइब्रेरी में से पढ़ें >

अधिक दिखाएं

---------------

छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें.

इंटरनेट पर हिंदी साहित्य का खजाना:

इंटरनेट की पहली यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित व लोकप्रिय ईपत्रिका में पढ़ें 10,000 से भी अधिक साहित्यिक रचनाएँ

हिन्दी कम्प्यूटिंग के लिए काम की ढेरों कड़ियाँ - यहाँ क्लिक करें!

.  Subscribe in a reader

इस ब्लॉग की नई पोस्टें अपने ईमेल में प्राप्त करने हेतु अपना ईमेल पता नीचे भरें:

FeedBurner द्वारा प्रेषित

ऑनलाइन हिन्दी वर्ग पहेली खेलें

***

Google+ Followers

फ़ेसबुक में पसंद करें