शनिवार, 16 जनवरी 2010

फ़िफ़्टीन सेकण्ड्स ऑफ़ फ़ेम – सीजन 2 : रविरतलामी का साक्षात्कार वेब-नी-टेक पर!

image

माना कि वेब-नी-टेक (http://webneetech.com) कोई न्यूयॉर्क टाइम्स (जैसी बड़ी साइट) नहीं है, मगर मैं भी कौन सा बड़ा बिग ब्लॉगर हूं? जो भी हो, मेरा एक साक्षात्कार वहां पर छपा है. यदि आपको लगता है कि वहाँ बेकाम की कुछ बकवास पढ़ने को मिल सकती है तो सीधे वहाँ जाने के लिए यहाँ चटका लगाएँ.

 

फ़िफ़्टीन सेकण्ड्स ऑफ फेम की कुछ पूर्व प्रविष्टियाँ -  छोटे शहरों की बड़ी चिट्ठाकारी , फ़िफ्टीन सेकण्ड्स ऑफ़ फ़ेम रिटर्न्स, फ़िफ़्टीन सेकण्ड्स ऑफ़ फ़ेम रीवाइन्डेड, फ़ाइव सेकण्ड्स ऑफ़ फ़ेम रील्लोडेड

14 टिप्पणियाँ./ अपनी प्रतिक्रिया लिखें:

  1. पहले लिंक पर जाएंगे, बाकि बात बाद में

    उत्तर देंहटाएं
  2. अरे वाह। मुझे भी अपनी पसन्द में शामिल करने के लिये शुक्रिया।

    उत्तर देंहटाएं
  3. क्षमा कर दीजियेगा जी
    हिन्दी में होता तो हम भी समझ पाते

    प्रणाम स्वीकार करें

    उत्तर देंहटाएं
  4. हो कर आए है उधर से. अंगरेजी में था तो टेम लग गया. :)


    आपके ब्लॉग के बेस्ट पार्ट पर नजर डाल ली है. 213 फोलोअर और 599 (बाटा के दाम की इस्टाइल में) सबस्क्राइबर!!! क्या बात है! भगवान 10% हमें भी दे दे.... :)


    आपकी पसन्द के ब्लॉग देखे. सेम टू सेम...अजदक को छोड़ कर. उनका अपनी समझ में नहीं आता, ऊँची चीज है. अधिक में सुनील दीपक के ब्लॉग की अनुशंसा करूँगा.

    उत्तर देंहटाएं
  5. वाह रवि जी, बधाई हो

    उत्तर देंहटाएं
  6. वाह जी आपका साक्षात्कार पढ़ा. और ख्याति पांऐं. शुभकामनाएं.

    उत्तर देंहटाएं
  7. हिन्दी के लिए आपके अमूल्य योगदान पर साधुवाद

    उत्तर देंहटाएं
  8. boss, maja aa gaya udhar aapka pura interview padh kar.
    dil khush ho gaya. kai bato par lambi charcha ho sakti hai lekin
    jo aapne apni pasandida blog list di hai us se sehmat hu, bavjud iske ki kai bar azadak saheb ki kai post apne sir ke upar se nikal jati hai.

    shubhkamnayein

    उत्तर देंहटाएं
  9. रवि जी .....बढिया है .ब्लोग ब्लोग है सिर्फ़ ब्लोग ,अच्छा है अपनी अलग पह्चान

    उत्तर देंहटाएं
  10. बधाई।
    अभी अभी वहाँ होकर आया हूँ।
    वहाँ जो प्रश्न पूछा था, उसे यहाँ भी पूछ रहा हूँ।
    क्या हिन्दी में अच्छा और उपयोगी "स्पेल चेक्कर" तैयार करने में कोई प्रगति हुई है?
    शुभकामनाएं
    जी विश्वनाथ, जे पी नगर, बेंगळूरु

    उत्तर देंहटाएं
  11. विश्वनाथ जी,
    काम लायक हिन्दी का वर्तनी जाँचक तो अभी एमएस वर्ड 2003/2007 में ही है. थोड़ी सी सहायता आपको गूगल डॉक्स / जीमेल के अंतर्निर्मित हिन्दी वर्तनी जाँचक से मिल सकती है. बाकी कुछ क्षेत्रों में प्रयास चल तो रहे हैं, मगर दुख की बात है कि रफ़्तार धीमी है.

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

----

नया! छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें. ---