मॉज़िल्ला थंडरबर्ड प्रयोग करने हेतु एक और नं1 सॉलिड कारण

अगर आप भी मेरी तरह अकसर अपने संलग्नकों को संलग्न करना भूल जाते हैं, तो इससे निजात पाने के लिए थंडरबर्ड अपना सकते हैं.

मॉजिल्ला थंडरबर्ड में नित्य नई ख़ूबियाँ जुड़ती जा रही हैं. सबसे बड़ी खूबी तो यह है कि आप इसमें जीमेल खाते को बड़ी आसानी से सिंक्रोनाइज कर सकते हैं – आईमैप और पॉप3 दोनों ही विधियों से, और ऑफलाइन काम कर सकते हैं. कुछ समय से थंडरबर्ड में जीमेल की तरह ही संलग्नकों के लिए रिमाइंडर सुविधा इसमें जोड़ी गई है. यही नहीं, अब आप इसमें संलग्नकों को जोड़ने से न भूल जाएं इसके लिए आपकी अपनी ही भाषा में कीवर्ड जोड़ने की भी सुविधा दी गई है. यह सुविधा थंडरबर्ड में तो वैसे कुछ समय से उपलब्ध है, मगर हिन्दी कीवर्डों पर यह ठीक से काम नहीं करता था. अब इसके नए संस्करण में हिन्दी कीवर्डों पर भी बढ़िया काम करता है.

मैं अकसर संलग्नकों को जोड़ना भूल जाता था और ईमेल लिखने के उपरांत भेजें बटन पर चटका लगा देता था. अब मैंने थंडरबर्ड में संलग्नक हेतु स्मरण दिलाने के लिए हिन्दी में ही संलग्न’ नाम से कीवर्ड जोड़ दिया है. अब जब भी मेरे ईमेल में संलग्न शब्द आता है, और यदि संलग्नक नहीं जुड़ा हुआ होता है तो यह मुझे स्मरण दिलाता है कि आपको कहीं संलग्नक तो नहीं लगाना है? यदि हाँ तो संलग्नक जोड़ें.

mozilla thunderbird

थंडरबर्ड में संलग्नक हेतु हिन्दी में कीवर्ड जोड़ने के लिए मेन्यू में टूल्स > ऑप्शन्स पर जाएँ तथा प्रकट हुए विंडो में कंपोजिशन टैब पर चटका लगाएँ. वहां पर चेक फ़ॉर मिसिंग अटैचमेंट चयन बक्से पर क्लिक कर सही का निशान लगाएँ तथा कीवर्ड्स बटन पर क्लिक करें. नए प्रकट विंडो पर एड बटन को क्लिक करें. इनपुट बक्से में कीवर्ड – ‘संलग्न’  भरें और ओके बटन पर क्लिक करें.

अगली मर्तबा जब भी आप कुछ इस तरह ईमेल लिखेंगे – आपके लिए फ़ाइल संलग्न है... तो यह आपके लिखे में ‘संलग्न’ को समझ लेगा और नीचे किनारे पर आपको चेतावनी देगा – यदि आपने कोई संलग्नक नहीं जोड़ा है तो -

mozilla attachment

चेतावनी को आप बख़ूबी अनदेखा कर सकते हैं यदि आपको संलग्नक नहीं जोड़ना है तो. और यदि भूल रहे हों तो थंडरबर्ड  के इस फ़ीचर का धन्यवाद करिए और संलग्नक जोड़िए.

हैप्पी थंडरबर्डिंग!

एक टिप्पणी भेजें

यह सच है - थंडरबर्ड एक बेहतरीन प्रोग्राम है। यह सारे ऑपरेटिंग सिस्टम पर चलता है और ओपेन सोर्स है।

बहुत अच्छी जानकारी। धन्यवाद।

बहुत बढिया जानकारी दी है जी
आपका हार्दिक धन्यवाद

प्रणाम स्वीकार करें

मैनें इन्स्टाल कर लिया ।

रवि जी नमस्कार

मैने आपके ब्लोग से कई महीने पहले लिनक्स पकेट गाईड डाउन्लोड की थी
उस बुक मे जानकारियो का ख्जाना है

मगर पूरी नही पढी क्योकि मैने लिनक्स कभी यूज़ नही किया ना निकट भविष्य मे यूज़ कर पाउन्गा

एक्स पी के लिये अगर आप्के पास ऐसी कोइ पी डी एफ़ बुक हो तो उसे पढ्ना चाहता हून

निवेदन है अगर कोइ पुस्तक हो तो उप्लब्ध करवाइये

- वीनस

वीनस केसरी जी,
नमस्कार. शायद आपका आशय हिन्दी विंडोज गाइड ईबुक के लिए है? तो ऐसी किताब मेरी जानकारी में नहीं है. अलबत्ता अंग्रेज़ी में गाइडों की संख्या सैकड़ों में है. यदि अंग्रेज़ी में चाहिए हो तो आपको लिंक भेजी जा सकती है.

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

[blogger][facebook]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget