सोमवार, 5 अक्तूबर 2009

द रीअल थिंग…

यदा कदा हम सभी का सामना रीअल, वास्तविक चीजों से हो जाता है, और हम सन्न खड़े देखते रह जाते हैं. ऐसे ही कुछ वास्तविक चीजों से सामना पिछले दिनों अनायास हो गया. आप भी दर्शन-लाभ लें.

यह है द रीअल कैटल क्लास -

 

Image004

 

पौराणिक महत्व की, दैव नगरी – उज्जयिनी के रेलवे विश्रामगृह का 30 सितम्बर 09 की रात्रि का चित्र है यह. बताने की जरूरत नहीं कि हम भी शामिल थे रीअल कैटल क्लास में – झाबुआ तक के रात्रिकालीन सफर के दौरान क्षणिक विश्राम की तलाश में :)

 

और, यह हैं  असली मदर मैरी.

 mother marry1

 

एक और एंगल से नहीं सराहेंगे?

 mother marry

--

(सभी चित्र – सौजन्य :  रेखा)

13 blogger-facebook:

  1. इसे कहते है समय पर सटीक फोटो खींचना, असलियत यही है, बहुत खूब !

    उत्तर देंहटाएं
  2. सच्चा भारत...‘ये मेरा इंडिया’ देख लीजिये

    उत्तर देंहटाएं
  3. पर मुस्कुराने की काबिलियत हम भारतीयों में तो बची है ।
    धन्यवाद


    यहाँ भी आए
    http://computerlife2.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  4. ज्यादा सच्चाई दिखाने से लोग नाराज़ भी हो जाते हैं.
    वैसे ये हाल तो भारत में सब जगह मिल जायेगा.
    थोडी खूबसूरती भी है, हमारे ब्लॉग पर. कृपया पधारें

    उत्तर देंहटाएं
  5. कैटल क्लास और मदर मैरी सच में रियल है . माँ बेटे के चहेरे पर ख़ुशी भी रियल है सच में

    उत्तर देंहटाएं
  6. ज्यादा सच्चाई दिखाने से लोग नाराज़ भी हो जाते हैं (हम नहीं होते).
    वैसे ये हाल तो भारत में सब जगह मिल जायेगा (देखने वाले की आंखें मगर देखती नहीं).
    थोडी खूबसूरती भी है, हमारे ब्लॉग पर (शायद). कृपया पधारें

    उत्तर देंहटाएं
  7. yeh nazara to bharat ke kisi bhi shahar me mil jaega
    Bus ruk ke dhyan dene wale jara kam hain !

    उत्तर देंहटाएं
  8. सरल देश के सरल लोगों की निर्मल तस्वीर ...
    यही है सच्चा भारत ...!!

    उत्तर देंहटाएं
  9. आपके ब्लोग मे अनरियल भी क्या है यह नही पता चला है । सब कुछ तो रियल ही मिलता है । बिना किसी लाग लपेट के ।

    उत्तर देंहटाएं
  10. भारत में तो हमेशा ही कैमरे के लायक भरपूर तस्‍वीरें मिल जाती हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  11. यह केटल तो प्लेटफोर्म पर भी विचरन करते है हमारे पास एक ऐसा भी फोटो है लेकिन यह फोटो देखकर मज़ा आया ।

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

---------------------------------------------------------

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------