टेढ़ी दुनिया पर रवि रतलामी की तिर्यक, तकनीकी रेखाएँ...

चलाएँ विंडोज़ 7 में एक्सपी के प्रोग्राम बिना री-इंस्टाल किए

 windows 7

यदि आप किसी कारण से अपने विंडोज़ एक्सपी को दो-बारा किसी नई जगह या नए पार्टीशन पर (एक ही कम्प्यूटर पर क्लीन इंस्टाल) इंस्टाल करते हैं, या कोई नया उन्नत संस्करण डालते हैं जो अपग्रेडेबल नहीं होता (जैसे कि होम एक्सपी पर नॉन अपग्रेडेबल एन्टरप्राइज या अल्टीमेट) तो आपको विंडोज़ के सारे प्रोग्राम नए सिरे से इंस्टाल करने होते हैं, और कई प्रोग्रामों को दोबारा रजिस्टर करना होता है.

ये सारा झमेला बहुत ही सिरदर्दी का होता है जिसमें अच्छा खासा समय जाया होता है.

परंतु विंडोज़ 7 में ये सुविधा है कि अब आप अपने पुराने विंडोज़ में संस्थापित प्रोग्रामों को वहीं से सीधे चला सकते हैं. जब आप अपने विंडोज एक्सपी पर विंडोज़ 7 अतिरिक्त रूप से दूसरे पार्टीशन पर ड्यूअल बूट मोड में संस्थापित करते हैं तो आपको अपने विंडोज़ 7 के लिए उन प्रोग्रामों को अलग से (आमतौर पर प्राय: सभी प्रोग्रामों में, कुछ विशिष्ट परिस्थितियों में विशिष्ट प्रोग्रामों को छोड़कर) फिर से दोबारा संस्थापित करने की आवश्यकता नहीं है.

आप बस अपने पुराने विंडोज के प्रोग्रामों के शार्टकट अपने विंडोज़ 7 के डेस्कटाप पर लगा लें और अपने प्रिय प्रोग्रामों का आनंद लें. यहां तक कि जटिल प्रोग्राम जो विंडोज़ रजिस्ट्री पर निर्भर रहते हैं जैसे कि एमएस ऑफिस वे भी बढ़िया चलते हैं.

लगता है कि विंडोज विस्ता की असफलता से विंडोज़ 7 ने बहुत कुछ सीख लिया है :)

विंडोज़ 7 RC यहाँ से डाउनलोड करें. इसे आप मार्च 2010 तक जांच परख हेतु मुफ़्त चला सकते हैं.

विषय:

एक टिप्पणी भेजें

जानकारी अच्छी और उपयोगी है।

उपयोगी जानकारी । धन्यवाद ।

जानकारी के लीये आभार !

रवि जी आपने यह इतना लेट बताया है कि में अधिकांश प्रोग्राम इंस्‍टाल कर चुका हूं। काश पहले पता होता। इतनी मेहनत ही नहीं करनी पड़ती। अब बस फ्रिट्ज चला रहा हूं। एक्‍सपी से लेकर। :)

बेताल कि हिन्दी कॉमिक्सो का मजा लिजिए. अब भारतीय पत्रिकाए भी नेट पर
sim786.blogspot.com पर आपका स्वागत है.

रवि जी, दुर्भाग्य से जब मुझे पहली बार कम्प्यूटर लेना हुआ उसी समय विण्डोज विस्टा स्टार्टर लान्च हुआ था और मुझ अनाड़ी को इसके बारे में कुछ पता नःईं था इसलिए डीलर ने मुझे जो थमा दिया वही लेकार आ गया हूँ। करीब एक साल से इसी विस्टा पर काम कर रहा हूँ। कठिनाइयाँ भी आयीं तो यही समझता रहा कि मुझे सही जानकारी नहीं होगी।

अब कुछ-कुछ लग रहा है कि अचानक काम करते-करेते कम्प्यूटर पर चल रहा प्रोग्राम not responding का सन्देश देने लगता है और मुझे कम्प्यूटर स्विचऑफ करने तक में दिक्कत पैदा हो जाती थी। सीधे CPU का बटन दबाना पड़ता था या उससे भी बढ़कर UPS बन्द करना पड़ता था। अब कुछ कामचलाऊ जुगाड़ जान गया हूँ। alt+Ctrl+Delete का प्रयोग करके बाहर आना पड़ता है।

कृपया बताएं कि विस्टा की असफलता किन कार्यों में है जो एक्सपी में नहीं थी। मुझे विस्टा से निजात पाने के लिए क्या करना चाहिए। मुझे तो बेहतर operating system क कोई अनुभव ही नहीं है।:)

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

अन्य रचनाएँ

[random][simplepost]

व्यंग्य

[व्यंग्य][random][column1]

विविध

[विविध][random][column1]

हिन्दी

[हिन्दी][random][column1]
[blogger][facebook]

तकनीकी

[तकनीकी][random][column1]

आपकी रूचि की और रचनाएँ -

[random][column1]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget