मंगलवार, 19 मई 2009

संस्कृत / हिन्दी ओसीआर

काम लायक हिन्दी ओसीआर की तलाश बहुतों को बहुत समय से है. संस्कृत ओसीआर नाम का एक सॉफ़्टवेयर बहुत समय से इंटरनेट पर मुफ़्त प्रयोग के लिए लंबे...

रविवार, 17 मई 2009

वोलफ्रेम अल्फ़ा – अभी हिन्दी में उपलब्ध नहीं है, मगर अंग्रेज़ी में तो मस्त है?

बहु प्रतीक्षित, अपने तरह का नया सर्च इंजिन, जिसे माना जा रहा है कि वो गूगल को गले से पकड़ने की ताक़त रखता है,  वोलफ्रेम अल्फ़ा इंटरनेट पर...

मंगलवार, 12 मई 2009

ब्लॉगर ब्लॉगस्पाट के नए रूप रंग के लिए आपके सुझाव आमंत्रित हैं

लंबे समय के बाद ब्लॉगर को लगता है कुछ अकल आई है . और उसने अपने आप को सजाने-संवारने और बेहतर बनाने के लिए आम प्रयोक्ताओं से खुला सुझाव मां...

सोमवार, 11 मई 2009

भारत का बेस्ट जॉब

दुनिया का बेस्ट जॉब भले ही ब्रिटेन के बेन साउदल को मिल गया हो, पर भारत के बेस्ट जॉब के बारे में आपका क्या खयाल है? वैसे, विशुद्ध भारती...

शुक्रवार, 8 मई 2009

हिन्दी ब्लॉग सर्वेक्षण : परिणाम हाजिर हैं

वैसे तो किसी सर्वेक्षण की सफलता या ये कहें कि उसकी परिशुद्धता उसके सैंपलिंग की मात्रा के समानुपाती होती है, तो इस आधार पर अनुमानित 10 हजार ह...

बुधवार, 6 मई 2009

हिन्दी ब्लॉग सर्वे में भाग लीजिए

अपने तरह के पहले, हिन्दी में बने हिन्दी ब्लॉग सर्वे में भाग लें और अपनी पसंदगी-नापसंदगी दर्ज करें. नोट करें कि सर्वे पहले आएँ पहले पाएँ के ...

मंगलवार, 5 मई 2009

विंडोज 7 रिलीज कैंडीडेट : समर्थित भाषा से हिन्दी ग़ायब?

विंडोज 7 का बीटा संस्करण जब पहली दफा जारी किया गया था तो चंद पाँच-छः भाषाओं में हिन्दी का भी नाम था. ये बात जुदा थी कि इसके मूलभूत इंटरफेस ...

दया के पात्र कौन?

आधुनिक सन्दर्भों में दया के पात्र कौन कौन हो सकते हैं भला? आइए, एक नजर डालते हैं – · एम-पी, एमएलए जिनके पास 100 करोड़ से कम घोषित-अघोषित...

सोमवार, 4 मई 2009

ट्रेवियन : लोकप्रिय ऑनलाइन स्ट्रेटेजी खेल अब हिन्दी में

ऑनलाइन खेल ट्रेवियन का पूरा हिन्दी कृत ऑनलाइन गेमसर्वर अब हम हिन्दी प्रेमी खिलाड़ियों के लिए पिछले महीने ही जोरशोर से चालू किया गया है. इंट...

शनिवार, 2 मई 2009

क्या आप ब्रेड पिट या हृतिक रोशन जैसे लगते हैं?

  कम से कम आपके अपने प्रोफ़ाइल में? चलिए, आपसे दूसरे तरीके से प्रश्न पूछते हैं. यदि आपके मेल बक्सों में कुछ इस तरह के ईमेल आने लगे तो अपन...

शुक्रवार, 1 मई 2009

स्वाइन फ़्लू के इंटरनेटी ख़तरे

आप इस बात से निश्चिंत न रहें कि स्वाइन फ़्लू का पदार्पण आपके इलाके में नहीं हुआ है और आप इसके खतरे से बचे हुए हैं. नहीं. यदि आप इन पंक्तियों...

---------------------------------------------------------

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------