आसपास की कहानियाँ ||  छींटें और बौछारें ||  तकनीकी ||  विविध ||  व्यंग्य ||  हिन्दी || 2000+ तकनीकी और हास्य-व्यंग्य रचनाएँ -

मध्य प्रदेश के मुख्य मंत्री शिवराज सिंह चौहान भी हिन्दी ब्लॉगों की दुनिया में कूदे

chief minister's blog

ब्लॉगों की ताक़त लगता है अब सबको दिखाई दे रही है. बिजनेस वीक में भारत के 50 प्रभावशाली व्यक्तियों की सूची में एक ब्लॉगर के शामिल होने की खबर आई ही थी कि मध्यप्रदेश के मुख्य मंत्री शिवराज सिंह चौहान के ब्लॉग जगत में पदार्पण की सूचना भी आ गई. अच्छी बात ये है कि वे हिन्दी में ब्लॉग लिख रहे हैं. अपने शुरूआती उद्बोधन में, जाहिर है स्वर्णिम मध्य प्रदेश की कल्पना करते हुए लिखते हैं -

 

“अत्यंत क्षोभ के साथ मैं मानता हूँ कि ‘भ्रष्टाचार’ पूरी व्यवस्था के लिए नासूर बन चुका है और इसे एक झटके में समाप्त करना किसी के लिए संभव नहीं  है परन्तु मैं विश्वास दिलाना चाहता हूँ कि चरणबद्ध तरीके से इसको जड़ से  समाप्त करने के लिए मैं कृतसंकल्प हूँ |  शासन में आईटी का प्रयोग इसी लिए प्रारंभ किया गया है |  परन्तु इस संघर्ष मैं समाज के हर वर्ग को मेरा साथ देना होगा, क्योंकि मेरी कल्पना जरूर “स्वर्णिम मध्यप्रदेश” की है  परन्तु सामूहिक प्रयासों से ही इसे मूर्त रूप दिया जा सकता है|”

देखते हैं शिवराज सिंह चौहान का यह ब्लॉग लेखन कितने दिनों तक जारी रहता है और कितना नियमित रह पाता है. क्या यह भी एक चुनावी प्रोपेगंडा तो नहीं? जो भी हो, आइए उनका हिन्दी ब्लॉग जगत् में आत्मीय स्वागत करें.

टिप्पणियाँ

  1. रवि जी ब्लाग माध्यम ने अपनी पहचान बना ली है और इस का महत्व स्थापित हो चला है। जरूरत इस बात की है कि ज्ञानवर्धक और सूचनात्मक कितना ब्लाग पर आ रहा है।

    उत्तर देंहटाएं
  2. शिवराज सिंह जी जितने अच्छे नेता हैं उतने ही अच्छे इंसान भी हैं। अगर वे ब्लाग के जरिये सीधे आम आदमी से जुड़ते हैं या आम आदमी उन तक अपनी पहुंच बना सकता है तो इससे अच्छी बात मध्यप्रदेश के लोगों के लिये हो ही नहीं सकती। लेकिन तब जब ब्लाग लेखन जैसा आपने कहा सिर्फ चुनावी प्रोपेगंडा न हो।
    शमशाद अहमद

    उत्तर देंहटाएं
  3. ईश्वर करें सभी नेता इसी तरह कूदें। ताकी जनता इन से सवाल जवाब कर सके।कहीं ऐसा ना हो कि आप की बात सही हो कहीं वह चुनावी स्टंट के कारण तो नही कूदे?

    उत्तर देंहटाएं
  4. यह एक शुभ संकेत है.

    उत्तर देंहटाएं
  5. इस खबर से मैं तो बहुत खुश हूँ । अब मुझे पोस्ट लिखने की ज़रुरत नहीं । सीधे शिवराज जी के ब्लॉग पर कमेंट करने से ही काम चल जाएगा । राजा तक प्रजा की समस्याएँ पहुँचाने का अच्छा ज़रिया बन सकता है ब्लॉग । बशर्ते वाकई समस्याओं पर गंभीरता से विचार किया जाए ।

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत अच्छी खबर... हिन्दी ब्लॉगिंग में नए सोपान जुड़ते जा रहे हैं..

    उत्तर देंहटाएं
  7. जल्दी ही बाकी मुख्यमंत्री भी अपनाएंगे अब तो :-)

    उत्तर देंहटाएं
  8. अच्छी बात है वरना कभी वाम पंथियों ने कम्प्यूटर का विरोध किया था, अब समाजवादी कर रहा है. ये कम से कम समय के साथ कदम ताल तो मिला कर चल रहे है...

    उत्तर देंहटाएं
  9. अभी तो एक ही पोस्ट ठेले हैं, वाकई देखते हैं कि कितने समय तक जारी रख पाते हैं और नियमित लिखते हैं कि नहीं और महज़ चुनावी प्रोपेगेन्डा तो नहीं!

    श्री लालू यादव ने भी ब्लॉग लिखना आरंभ किया था लेकिन चार पोस्ट बाद ही ब्लॉगिंग का जोश ठंडा पड़ गया और साल भर से कुछ नहीं लिखे हैं!! ;)

    उत्तर देंहटाएं
  10. उपरोक्त टिप्पणियों को पढ़ने के बाद मैं वही बात दोबारा लिखने से कतरा गया। लेकिन दूसरी ओर, लालू जी ने भी अपना ब्लाग शुरू किया था। जरा देखें कि वे कितने सक्रिय रहे!

    उत्तर देंहटाएं
  11. all comics lovers are welcome
    http://sim786.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  12. चिन्‍ता न करं, धीरे धीरे हर समझदार व्‍यक्ति इस क्षेत्र में कूदने वाला है।

    -----------
    खुशियों का विज्ञान-3
    एक साइंटिस्‍ट का दुखद अंत

    उत्तर देंहटाएं
  13. रवी भाई आपने नयी जानकारी दी है । मेरे लिये तो इसका कोई महत्व नही क्यों कि मेरे अन्य साथियों के ब्लोग पर नही पहूँच पाता हू तो बडे लोगो के ब्लोग पर तो, ना बाबा ना ।

    उत्तर देंहटाएं
  14. sir.adikariyo ko control kare tabhi coruption se bacha ja sakta hai.kyuki mid day meel jaisi yojnao me bahut coruption hai.koi bhi school me sahi tarike se kam nahi hota hai sikayat karne par kucha bhi nahi hota hai.please control to all oficcerse

    उत्तर देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

विशाल लाइब्रेरी में से पढ़ें >

अधिक दिखाएं

---------------

छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें.

इंटरनेट पर हिंदी साहित्य का खजाना:

इंटरनेट की पहली यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित व लोकप्रिय ईपत्रिका में पढ़ें 10,000 से भी अधिक साहित्यिक रचनाएँ

हिन्दी कम्प्यूटिंग के लिए काम की ढेरों कड़ियाँ - यहाँ क्लिक करें!

.  Subscribe in a reader

इस ब्लॉग की नई पोस्टें अपने ईमेल में प्राप्त करने हेतु अपना ईमेल पता नीचे भरें:

FeedBurner द्वारा प्रेषित

ऑनलाइन हिन्दी वर्ग पहेली खेलें

***

Google+ Followers

फ़ेसबुक में पसंद करें