खच्चरिया ग्लैमर या ग्लैमरस खच्चर.

ह, सच कहा है. सुंदरता तो, देखने वाले की आँखों में बसती है. और ग्लैमर? आज का ग्लैमर तो अधिकांश खच्चरिया ही होता है. ज्ञानदत्त जी को खच्चर में ग्लैमर भले ही दिखाई न दिए हों, मगर यहाँ देखिए – एक से एक ग्लैमरस खच्चर. खच्चर एक रूप अनेक. बस थोड़ा सा रंग रोगन की जरूरत है और ग्लैमर हाजिर.

khachhariya glamour4

(कलाकार की खच्चरिया कूंची?)

 

khachhariya glamour9

(चिक में से झांकती हसीना?)

 

khachhariya glamour8

(ग्लैमरस प्रतिबिम्ब?)

 

khachhariya glamour10

(बर्निंग सेंशेसन…)

 

और.. अंत में -

khachhariya glamour11 -pinup

(पिन अप सुंदरी?)

अब तो आप मानेंगे कि वास्तविक ग्लैमर कम्प्यूटर प्रोग्रामों के जरिए ही मिलता है? आप भी अपने दीगर चित्रों में निजी प्रयोग के लिए फ्री-फोकट में उपलब्ध प्रोग्राम फ़ोटोफ़िल्टर के फिल्टर औजारों के जरिए ऐसे ही ग्लैमरस प्रभाव डाल सकते हैं.

एक टिप्पणी भेजें

अभिभूत हुआ! सही में आपमें एक कलाकार कर्मयोगी का दिल है।

ज्ञान जी के खच्चर को ग्लेमर प्रदान करने के लिए धन्यवाद! और तरकीब बताने के लिए भी कि वे खुद उसे ग्लेमर प्रदान कर सकें।

आज का दिन तो खच्चर के लिए बड़ा ही शुभ निकला....पता नहीं किसका मुंह देखकर उठा होगा....सभी उसपर मेहरबान हैं..

Gayan dutt ji ka pehla comment apekshit hi tha..
hahaha :)

बेहतरीन प्रस्तुति के लिये बधाई स्वीकारें

वाह ये खच्चर तो वाकई बड़ा ही ग्लैमरस है...

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

[blogger][facebook]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget