March 2009

खच्चरिया ग्लैमर या ग्लैमरस खच्चर.

आ ह, सच कहा है. सुंदरता तो, देखने वाले की आँखों में बसती है. और ग्लैमर? आज का ग्लैमर तो अधिकांश खच्चरिया ही होता है. ज्ञानदत्त जी को खच्चर म...

आप अपने मोबाइल फोन के डाटा का बैकअप लेते हैं या नहीं?

  अभी पिछले दिनों मेरे दो अजीज मित्रों के साथ अलग-अलग मगर एक ही किस्म का हादसा हो गया. उनके मोबाइल फोन के कान्टेक्ट नंबर व अन्य डाटा उन...

विवाह और गणित में क्या समानता है?

आप कहेंगे कोई साम्य नहीं. गणित गणित है और विवाह विवाह. इसमें वन टू का फोर कहां से आ गया.  या फिर आप दार्शनिक अंदाज में  कह सकते हैं - विवाह ...

फेसबुक और ओरकुट से घृणा करते हैं? ब्रांड न्यू हिन्दी सोशल नेटवर्किंग साइट ‘मितवा’ में आपका स्वागत है.

मितवा के सदस्य बनें और सार्थक सामाजिक जीवन शुरू करें... ये कैच लाइन है एक नए सामाजिक जाल स्थल मितवा का. मितवा का पहला बीटा संस्करण पूर...

एक ग़रीब की आत्मकथा...

(आत्मकथा लिखना अब अमीरों की ही बपौती नहीं रह गई है. अब तो गरीब भी आत्मकथा लिख सकता है. लिखकर उसे प्रकाशित भी कर सकता है. वो तो धन्य ...

ब्लॉगिंग बेसिक्स और ब्लॉगिंग फंडा सीखना चाहते हैं? इंडिया ब्लॉग स्कूल में आपका स्वागत है.

यह प्रकल्प देश-विदेश के जाने माने ब्लॉगर अमित अग्रवाल का है. अमित अग्रवाल आईआईटी ग्रेजुएट हैं, उनका ब्लॉग करोड़ों ब्लॉगों के बीच, तमाम व...

आइए, बनाएँ अपने कम्प्यूटर डिस्प्ले को हिन्दी मित्र

आपके कम्प्यूटर पर हिन्दी कैसे दिखाई देती है? बेकार-बदसूरत-अपठनीय सा? उसपर थोड़ा रंग-रोगन आप कर सकते हैं ताकि वो जरा सुंदर दिखाई दे. आइए, ...

हिन्दी मित्र : विंडोज 7

इंटरनेट एक्सप्लोरर का नया, संस्करण 8 बीटा  (आरसी1) यूं तो बढ़िया, तेज चलता है परंतु जब विंडोज एक्सपी पर संस्थापित किया जाता है तो यह हिन्दी...

तमिल है, तेलुगु है, मलयालम है, कन्नड़ भी है, पर हिन्दी नहीं!

मामला मुझे तो लालू की रेल जैसा ही दिक्खे है. पटना से रेल चली तो पटना में ही पहुँची – वैसे ही डी राजा की गाड़ी दक्षिण में ही घूमी? प्रसा...

छत्तीसगढ़ी शाइनिंग...

विश्व की 108 भाषाओं के साथ-साथ छत्तीसगढ़ी भाषा चमकती हुई यहाँ नजर आ रही है. केडीई 4.2 लोकेलाइजेशन टीम की सूची में यह अन्य भारतीय भाषाओं...

हिन्दी के लिए सर्वश्रेष्ठ ब्राउज़र : ऑपेरा 9.64 हिन्दी

बाजार में यूं तो नए नवेले गूगल क्रोम और सफारी को मिलाकर दर्जनों ब्राउजर हैं, मगर हिन्दी के लिए काम के कुछेक ही हैं. इनमें भी आमतौर पर फ़ायरफ...

चंद एडसेंसिया चुटकुले

  वैसे तो, एडसेंस 23 अगस्त सन् 2006 से हिन्दी में विज्ञापनों को दिखा रहा है, परंतु अढ़ाई साल बीत जाने के बाद अब भी हिन्दी उसकी चिन्दी करत...

एक नया, ताजातरीन, 100% शुद्ध ‘प्रखर देवनागरी फ़ॉन्ट परिवर्तक’

(चित्र को स्पष्ट, बड़े आकार में देखने के लिए उस पर क्लिक करें) एक नया फ़ॉन्ट परिवर्तक ‘प्रखर देवनागरी फ़ॉन्ट परिवर्तक’ हाल ही मे...