टेढ़ी दुनिया पर रवि रतलामी की तिर्यक, तकनीकी रेखाएँ...

गूगल क्रोम : अभी अद्यतन न करें

google chrome - please do not upgrade now

यदि आपको नई-नवेली चीजें ललचाती हैं, और आप चाहते हैं कि आपके कम्प्यूटर पर हर हमेशा गूगल क्रोम का नया नवेला डेवलपर संस्करण (जिसे आम प्रयोग के लिए जारी नहीं किया गया होता है) स्वचालित अद्यतन होता रहे ताकि आप उसकी जांच परख कर सकें व एकदम नया (जो अभी बाजार में उतारा नहीं गया है ) गूगल क्रोम प्रयोग करते रहें तो आप अपने गूगल क्रोम की ऐसी सेटिंग गूगल क्रोम चैनल चूज़र सॉफ़्टवेयर के जरिए कर सकते हैं.

मगर, यहाँ पर मजे की बात ये है कि गूगल क्रोम चैनल चूज़र सॉफ़्टवेयर को चलाने पर इसके (क्रोम के हिंदी भाषाई वातावरण में) स्क्रीन में दो बटन नजर आते हैं. पहले बटन में लिखा होता है – अभी अद्यतन न करें (do not update now) तथा ठीक (ok). यदि आप ठीक पर क्लिक करते हैं तो अद्यतन रद्द (cancel) हो जाता है, तथा अभी अद्यतन न करें बटन पर क्लिक करने पर प्रोग्राम अद्यतन हो जाता है.

कमांड इन रिवर्स ऑर्डर? शुक्रिया क्रोम. हमने ये भी सीख लिया !

---

पुनश्च: गूगल क्रोम की एक ख़ासियत आपके काम की हो सकती है – गूगल क्रोम के पता पट्टी में दाएं कोने पर वर्तमान पृष्ठ नियंत्रित करें बटन पर क्लिक कर आप खुले हुए पृष्ठ का डेस्कटॉप जाल अनुप्रयोग बना सकते हैं. यदि आप इंटरनेट पर बहुत सा कार्य करते हैं तो विविध साइटों के वेब अनुप्रयोग आपके अच्छे खासे काम के रहेंगे. एक बार आजमा कर देखें.

tag : do not upgrade google chrome now, bug, chrome, google chrome channel chooser software download link

एक टिप्पणी भेजें

थोड़ी बार समझ आई.. थोड़ी नहीं आई.. upgrade करें या नहीं..?

आजमाने की कोशिश कर रहा हूँ लेकिन बडी मुशिकिल से IE से हट कर फ़ायरफ़ाक्स पर उतरे थे अब क्रोम की आद्त भी डाल ही लेगें :)

मुझे तो खास जमा नहीं, ना रंग ना रूप। गुणवत्ता भी ठीक ठाक फिर फाफा से बेवफाई क्यों करें?
मैने तो अनइंस्टाल भी कर दिया। अपने लिये तो अगनीलोमड़ ही बढ़िया है।

हम भी इस्तेमाल कर रहे हैं. आप जानकारी देते रहिये.

रवि भाई, अद्यतन न करें वाली गलती, अनुवाद की है। अनुवादक ने अर्थ का अनर्थ बना दिया है। अंग्रेजी मे सही बटन दिखता है।

जो साथी गूगल क्रोम के साथ कोई थीम प्रयोग कर रहे है, वो इस आप्शन को मत लें, अन्यथा आपको बैठे बिठाए दिक्कते आएंगी।

अभी क्रोम शैशव अवस्था मे है, इसको ठीक होते होते काफी समय लगेगा।

ज्यादरतर काम फायर फोक्स से ही निपटाने पड़ते है, क्रोम काम नहीं देता. केवल नेट भ्रमण के लिए सही है.


आपने मजेदार बात बताई.

गूगल क्रोम में कुछ छोटी सी कमी है । नवभारत टाइम्स की साईट पर हिन्दी ठीक से नही पढी जा रही । दो शब्दों के बीच का अंतराल (स्पेस) गायब हो जाता है। srd.delhi@gmail.com

बीटा वर्जन है पर अच्छा है। मैने 6 ब्राउजर रखता हूं कंप्यूटर में।
internet explorer, firefox, safari, google chrome, flock , Opera बडा मजा आता है।
6 ब्राउजर से मै 6 अलग अलग काम कर सक्ता हूं।
जैसे 6 अलग अलग ईमेल साईन ईन कर सक्ता हूं।

अमरीकी वालों की एक कहावत है:
If it ain't broke, don't fix it.

मेरे लिए Internet Explorer संतोषजनक काम करता है।
Chrome को आजमाने का अब कोई इरादा नहीं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

अन्य रचनाएँ

[random][simplepost]

व्यंग्य

[व्यंग्य][random][column1]

विविध

[विविध][random][column1]

हिन्दी

[हिन्दी][random][column1]
[blogger][facebook]

तकनीकी

[तकनीकी][random][column1]

आपकी रूचि की और रचनाएँ -

[random][column1]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget