बुधवार, 21 मई 2008

गूगल हेल्थ : अगले दस सालों में हृदयाघात से आपके मरने के कितने खतरे हैं?



गूगल हेल्थ का बीटा संस्करण आपके लिए तमाम स्वास्थ्य संबंधी सूचनाएं व निदान लेकर हाजिर हो गया है.

इसमें आप अपने जीमेल खाते से पंजीकरण कर सकते हैं और अपनी निजी चिकित्सकीय व पैथॉलाजी जांच इत्यादि जानकारी यहाँ भर सकते हैं. उन जानकारियों के अनुसार समय समय पर आपको स्वास्थ्य संबंधी जानकारियाँ व रोगों के निदान संबंधी परामर्श तो दिए ही जाएंगे, जाल स्थल पर उपलब्ध स्वास्थ्य संबंधी सेवाओं की सुविधा भी गूगल हेल्थ से मिलेगी.



मैंने अपनी कुछ जानकारियाँ अपने प्रोफ़ाइल में भरीं और देखना चाहा कि अगले दस सालों में मेरे हृदयाघात से मरने का कितना खतरा है. यह कुछ डाटा प्रोसेसिंग सा करता रहा और इधर मेरे हृदय की धड़कन बढ़ती गई. जैसे जैसे इसकी प्रक्रिया पूर्ण होने का कम्प्लीशन बार भरता गया, मुझे लगा कि ये तो आज घंटे भर बाद की भविष्यवाणी करने वाला है. और....



और, ये लीजिए. एक पॉपअप विंडो प्रकट हुआ. जिसमें लिखे को पढ़कर मेरे हृदय को सुकून मिला. एप्लीकेशनघात हो गया था. मेरा हार्ट फेल होने के बजाए एप्लीकेशन फेल हो गया था. दोबारा इसे आजमाने की हिम्मत ही नहीं हुई. मगर, गूगल हेल्थ के जरिए यह जानना दिलचस्प होगा कि चिट्ठाकारों में से किसकी मृत्यु हृदयाघात से आने वाले दस सालों में होने वाली है?



वैसे, ये बात गूगल हेल्थ बताए या न बताए, यदि हम कम्प्यूटर के सामने बैठे चिट्ठा-चिट्ठा खेलते रहेंगे तो यकीनन हममें से अधिकतर की मृत्यु हृदयाघात से होने के खतरे तो आसन्न हैं ही...

4 टिप्पणियाँ./ अपनी प्रतिक्रिया लिखें:

  1. स्पष्ट बतायें - गूगल हेल्थ पर जायें या न जायें!

    उत्तर देंहटाएं
  2. दिल थाम कर पोस्ट किया करेंगे अब से :)

    उत्तर देंहटाएं
  3. दिल में एक दर्द सा उठा है अभी..
    इस टूल को हम जाचेंगे फिर कभी.


    :)

    उत्तर देंहटाएं
  4. बेहतरीन पोस्ट.....नईं जानकारी उपलब्ध करवाने का इतना बेहतरीन ढंग...पहले अपने ऊपर ट्राई किया और फिर फर्स्ट-हैंड सूचना को हम सब तक शेयर किया । गूगल हैल्थ वैल्थ को तो बाद में टोहते हैं। लेकिन आप की लंबी लंबी उम्र के लिये हम सब दुया कर रहे हैं ....आप ने जो हिंदी चिट्ठाकारी का पौधा रोपा है अभी तो आप ने उस छायादार पेड़ की छाया में बैठ कर बहुत से काम करते हैं , रवि जी। और हां, आगे से आपने इस तरह की कैलकुलेशन के चक्कर में बिलकुल नहीं पड़ना। ज्ञानजी को भी कह दीजिये कि ना ही करें यह सब तो शायद ज़्यादा ठीक रहेगा।
    बस खुश रहिये.....सारी कैल्कुलेशन झूठी पड़ जायेंगी।

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

----

नया! छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें. ---