टेढ़ी दुनिया पर रवि रतलामी की तिर्यक, तकनीकी रेखाएँ...

विज्ञापन अच्छे हैं...

किसी बढ़िया तेज रफ़्तार फ़िल्म के क्लाइमेक्स के ठीक पहले टीवी पर एक छोटा सा ब्रेक ले लिया जाए और अंतहीन विज्ञापनों का सिलसिला प्रारंभ हो जाए तो शर्तिया आपको विज्ञापनों से घृणा होने लगेगी. परंतु रुकिये, हममें से बहुतों के लिए विज्ञापन अच्छे हैं, और, वे और बेहतर होने जा रहे हैं...

गूगल अपना नया नवेला सेलफोन, जिसके बारे में कयास लगाए जा रहे हैं कि वो फरवरी 2008 में आने वाला है, उन लोगों को मुफ़्त में वितरित किए जाएंगे जो विज्ञापनों को पसंद करते हैं – मेरा मतलब है, विज्ञापनों को झेल सकते हैं. माइक्रोसॉफ़्ट भी पीछे नहीं है. माइक्रोसॉफ़्ट का स्लिमट्रिम ऑफ़िस सूट जो कि माइक्रोसॉफ़्ट वर्क्स कहलाता है, बहुत संभव है आपको आपके नए कंप्यूटर पर पहले से संस्थापित मिले, वो भी मुफ़्त. बस, इसके लिए आपको कुछ विज्ञापनों को झेलना होगा, जो कि आपके आनलाइन होने पर रीफ्रेश होते रहेंगे.

किसी उत्पाद को मुफ़्त में प्रयोग के लिए यदि हमें विज्ञापनों को कुछ सेकंड झेलना भी हो तो क्या फ़र्क पड़ता है. अगर लाइसेंस्ड विंडोज और एमएस ऑफ़िस विज्ञापनों के साथ मुफ़्त में मिलें, तो भाई, कोई पायरेटेड क्यों ले?

विज्ञापनों के भरोसे ही गूगल आपको इंटरनेट का मसाला ढूंढ कर दिखाता है, ब्लॉगर की यह सेवा प्रदान करता है जिसमें यह चिट्ठा होस्ट है. ...और आप भी विज्ञापनों के भरोसे इस चिट्ठे पर नित नई (भले ही वो बेकार, बेकाम, उबाऊ हों) प्रविष्टियाँ पढ़ते हैं :)

एक नए अध्ययन से यह भी खुलासा हुआ है कि पारंपरिक टेलिविजन विज्ञापनों से ज्यादा असरकारी और फायदेमंद जालपृष्ठों के विज्ञापन होते हैं. यानी निकट भविष्य में हमारे ब्लॉग पृष्ठों में विज्ञापन हथियाने की होड़ मचने वाली है. प्रसून जोशी और प्रहलाद कक्कड़ - ये बात क्या आपको पता है?

विज्ञापन, अच्छे हैं...

विषय:

एक टिप्पणी भेजें

Quiz_Master

Hello Sir...

I've been following your blog for some time now. Nice work you are doing for us Hindi medium students. Most of my friends read your blog cause its techie as well as in simple Hindi. Its essaintial for us IT students to know about tech.

Thank You Sir.

:= Ashwin (Another Ratlami Blogger.)

अनेकानेक धन्यवाद रतलामी जी! मेरा चिट्ठा अब चिट्ठाजगत में दिखने लगा है. लेकिन फूटू सहित प्रदर्शित नए चिट्ठाकारों में मेरा नाम नहीं है. मुझे यह भी सुझाएँ कि अपने ब्लॉग में मुझे और क्या-क्या आकर्षण जोड़ने चाहिए.

बुरा मत मानिएगा, हम मध्यप्रदेश वाले दुनिया को हिन्दी सिखाते हैं. कृपया आप 'ताज़े समाचार' की जगह 'ताज़ा समाचार' कर दें

अनेकानेक धन्यवाद रतलामी जी! मेरा चिट्ठा अब चिट्ठाजगत में दिखने लगा है. लेकिन फूटू सहित प्रदर्शित नए चिट्ठाकारों में मेरा नाम नहीं है. मुझे यह भी सुझाएँ कि अपने ब्लॉग में मुझे और क्या-क्या आकर्षण जोड़ने चाहिए.

बुरा मत मानिएगा, हम मध्यप्रदेश वाले दुनिया को हिन्दी सिखाते हैं. कृपया आप 'ताज़े समाचार' की जगह 'ताज़ा समाचार' कर दें

त्रुटि की ओर ध्यान दिलाने के लिए धन्यवाद विजयशंकर जी. ग़लती सुधार ली गई है.

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

अन्य रचनाएँ

[random][simplepost]

व्यंग्य

[व्यंग्य][random][column1]

विविध

[विविध][random][column1]

हिन्दी

[हिन्दी][random][column1]
[blogger][facebook]

तकनीकी

[तकनीकी][random][column1]

आपकी रूचि की और रचनाएँ -

[random][column1]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget