शुक्रवार, 25 फ़रवरी 2005

वागर्थ में हिन्दी ब्लॉग...

राजेश रंजन, जो अभी रेडहैट पर हिन्दी का कार्यभार देख रहे हैं, ने एक लिंक भेजा है. वागर्थ में हमारे हिन्दी चिट्ठों की जमकर चर्चा हुई है. आप भी देखें:
http://vagarth.com/feb05/internet/index.htm

धन्यवाद राजेश.
रवि

1 टिप्पणियाँ./ अपनी प्रतिक्रिया लिखें:

  1. रवि जी,

    यहाँ आप को मात दे दी :D जरा यहाँ पढ़िए

    http://www.akshargram.com/2005/02/24/186/

    चलो किसी चीज में तो आगे निकले :D

    पंकज

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

----

नया! छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें. ---